राजनाथ की टीम में होंगे शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह अपनी टीम की घोषणा पंद्रह दिन के भीतर करने वाले हैं। मंगलवार को राघौगढ़ जाने से पहले स्टेट हैंगर पर उन्होंने मीडिया से बातचीत में यह जानकारी दी। राजनाथ के अध्यक्ष बनने के बाद से ही सियासी जगत में अटकलों का दौर चल रहा है कि उनकी टीम में किसे पद मिलेगा और कौन कार्यकारिणी में शामिल होगा। भाजपा की शीर्ष बॉडी संसदीय बोर्ड को लेकर भी चर्चाएं चल रही हैं। मप्र से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस बार सदस्य के रूप में बोर्ड में शामिल हो सकते हैं।
पार्टी सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रीय परिषद की बैठक के बाद राजनाथ सिंह को यह अधिकार दे दिया गया है कि वे संसदीय बोर्ड में कुछ सदस्यों को शामिल कर सकते हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम पहले से ही तय माना जा रहा है। दूसरे सदस्य मप्र के मुख्यमंत्री होंगे।
गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी के कार्यकाल के दौरान संसदीय बोर्ड में थावरचंद गेहलोत मप्र का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। दूसरी तरफ राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जगह पाने की दौड़ में मप्र से गेहलोत, सुमित्रा महाजन, फग्गन सिंह कुलस्ते और प्रभात झा शामिल हैं। झा पुनर्वास की कोशिश में हैं और दिल्ली तक जोड़-तोड़ कर रहे हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि राघौगढ़ से लौटने के बाद राजनाथ ने सीएम निवास में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लंबी चर्चा की। इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर व सौदान सिंह भी मौजूद थे। कुलस्ते ने आदिवासी नेता के रूप में मजबूती से अपनी दावेदारी रखी है।
सपा-बसपा की सरकारों में कानून व्यवस्था बिगड़ जाती है : राजनाथ
 उत्तर प्रदेश में डीएसपी की हत्या के मामले में राजनाथ सिंह ने कहा कि जब-जब यूपी में समाजवादी पार्टी अथवा बहुजन समाजवादी पार्टी की सरकारें आती हैं, कानून व्यवस्था बिगड़ जाती है। राजनाथ ने कहा कि इस घटना की पूरी जांच होगी तो सच सामने आ जाएगा।
राघौगढ़ गए राजनाथ
राजनाथ सिंह और सौदान सिंह दिल्ली से सुबह 11 बजे भोपाल पहुंचे और स्टेट हैंगर से हैलीकॉप्टर के जरिए राघौगढ़ रवाना हो गए। उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर, वित्तमंत्री राघवजी व नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर भी थे। राजनाथ ने कांग्रेस महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की पत्नी आशा सिंह के निधन पर शोक संवेदना प्रकट की।