राजस्थान में आरक्षण के मुद्दे पर राज्य सरकार के साथ समझौते के बाद गुर्जरों ने आंदोलन वापस ले लिया है।

राजस्थान में आरक्षण के मुद्दे पर राज्य सरकार के साथ समझौते के बाद गुर्जरों ने आंदोलन वापस ले लिया है। जयपुर में कल रात राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि राज्य सरकार विशेष पिछड़ा वर्ग श्रेणी के तहत गुर्जरों को पांच प्रतिशत आरक्षण देने पर सिद्धांत रूप से सहमत हो गई है। उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद इस बारे में राज्य विधानसभा के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन का शांतिपूर्ण समाधान निकलने से राजस्थान सरकार और आम लोगों ने राहत की सांस ली है। रेल लाइन और सड़कों पर धरना समाप्त होने से लोगों को पिछले आठ दिनों से हो रही परेशानी से निजात मिलेगी। गुर्जर नेता कल रात हुए समझौते से   पूरी तरह असंतुष्ट हैं और उन्होंने आशा व्यक्त की है कि उन्हें पूरा न्याय मिलेगा। उधर सरकार ने भी गुर्जरों से वादा किया है कि उन्हें इस बार वैधानिक दायरे में आरक्षण दिया जाएगा ताकि भविष्य में इसे लेकर कोई पेचीदगियां न हों।