राजा भैया के करीबियों की हिरासत के लिए सीबीआई ने लगाई अर्जी

प्रतापगढ़. सीबीआई ने डीएसपी जिया उल-हक की हत्या के मामले में विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के दो करीबियों को हिरासत में लेना चाहती है। इसके लिए उसने विशेष कोर्ट में अर्जी लगाई है। इस पर मंगलवार को सुनवाई की संभावना है। उत्तरप्रदेश में प्रतापगढ़ के कुंडा में तैनात डीएसपी हक की दो मार्च को हत्या कर दी गई थी। वे बलिपुर में ग्राम प्रधान नन्हें सिंह यादव और उनके भाई की हत्या के बाद मामले को संभालने के लिए मौके पर पहुंचे थे। इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने राजा भैया के करीबी राजीव सिंह और संजय सिंह उर्फ गुड्डू सिंह को गिरफ्तार किया है। 

जांच के लिए मामला सीबीआई को सौंपे जाने के बाद एजेंसी ने चार मामले दर्ज किए हैं। इनमें से एक में राजा भैया को भी आरोपी बनाया है। अब वह तफ्तीश के सिलसिले में उनके सहयोगियों से सवाल-जवाब करना चाहती है। उनसे पुलिस से अब तक हासिल किया गया फोन कॉल्स रिकार्ड भी मांगा है।

थाना प्रभारी से पूछताछ 

सीबीआई टीम ने मानिकपुर थाना प्रभारी पंकज सिंह से पूछताछ की। इस थाने के तहत डीएसपी जिया उल हक ने अवैध रेत खुदाई के खिलाफ मुहिम चलाई थी। कई गाडिय़ां जब्त की थीं। हिंसा के बाद तीनों मृतकों का पोस्टमार्टम करनेवाले डॉक्टरों से भी जानकारी जुटाई गई।

डीएसपी के काति‍लों के करीब पहुंची सीबीआई
सीबीआई की टीम ने सोमवार को जि‍स तरह से कुंडा में सीएमओ, पोस्‍टमार्टम पैनल के डॉक्‍टरों और पुलि‍सकर्मियों से सवाल पूछे, उससे लग रहा है कि सीबीआई शहीद डीएसपी जि‍या उल हक के काति‍लों के करीब पहुंच गई है। वैसे जि‍न लोगों से सीबीआई ने सवाल पूछे हैं, उन लोगों को उक्‍त सवालों का जवाब देते नहीं बना। तकरीबन सभी सवालों को राजा भैया एंड टीम से जोड़कर पूछा गया। वहीं बलीपुर के 15 लोगों को नोटि‍स जारी कि‍या गया है, जि‍नसे आज मंगलवार को पूछताछ की जाएगी।
गौरतलब है कि सीबीआइ ने सोमवार को सीएमओ, पोस्टमॉर्टम करने वाले तीन डॉक्टरों, घटना के वक्त गांव में रहे बलीपुर के कुछ ग्रामीणों और कैंप कार्यालय पर मानिकपुर एसओ से भी पूछताछ की। सीबीआइ की टीम ने सीएमओ डॉ.विनोद पांडेय, सीओ के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डॉ.अनिल गुप्ता, डॉ.अनिरुद्ध सिंह, डॉ.संजय शर्मा से लगभग दो घंटे तक पूछताछ की। इसमें सीओ की लाश पर मिले जख्मों व रिपोर्ट में उल्लिखित तथ्यों का मिलान किया गया तथा डाक्टरों के हस्ताक्षर भी जांचे गए। इसके अलावा सीबीआइ की एक टीम ने कुंडा स्थित कैंप कार्यालय पर मानिकपुर एसओ पंकज सिंह से घंटे भर तक पूछताछ की। हर पहलू में जानने की कोशिश की कि पूरे मामले में राजा भैया जुड़े हैं या नहीं। सूत्र बताते हैं कि संभवत: सीबीआइ सीओ के हत्यारोपियों तक पहुंच गई है। सोमवार को सीबीआइ टीम अब उस शख्स की भी तलाश करने में जुट गई, जो घटना के दिन से ही लापता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *