राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया।

राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान भारत रत्‍न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी केा आज प्रदान किया। नई दिल्‍ली में श्री वाजपेयी के आवास पर राष्‍ट्रपति ने उन्‍हें यह सम्‍मान दिया। श्री वाजपेयी ऐसे पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री रहे जिन्‍होंने 1998 से 2004 के बीच अपना कार्यकाल पूरा किया था। इस अवसर पर उप राष्‍ट्रपति मोहम्‍मद हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी,वित्‍त मंत्री अरूण जेटली सहित अन्‍य वरिष्‍ठ कैबिनेट मंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और अनेक राजनीतिक दलों के नेताओं के अलावा राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन राष्‍ट्र को समर्पित रहा।

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि श्री वाजपेयी का नेत्रत्‍व सियासत से उपर उठकर है और उन्‍हें यह सम्‍मान यू पी ए के कार्यकाल के दौरान ही मिलना चाहिये था।

बिहार के मुख्‍यमंत्री नितीश कुमार ने श्री वाजपेयी को भारत रत्‍न से सम्‍मानित किये जाने पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की है और कहा है कि उनकी पार्टी इसके लिये पहले से ही मांग करती रही थी।

कांग्रेस नेता रीता बहुगुणा जोशी ने श्री वाजपेयी को बधाई देते हुए उनकी दीर्घायु होने की कामना की।

नई दिल्‍ली से दीपेन्‍द्र के साथ आकाशवाणी समाचार के लिये मैं दिवाकर।

प्रख्‍यात शिक्षाविद और स्‍वतंत्रता सेनानी महामना पंडित मदन मोहन मालवीय को भी मरणोपरान्‍त देश का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान भारत रत्‍न दिया जायेगा। राष्‍ट्रपति भवन में 30 मार्च को उनके परिजनों को यह सम्‍मान सौंपा जायेगा।