राहुल गांधी की इस ‘गलती’ से खुश हो गए मोदी

Tatpar 31/01/2014

कांग्रेस के कई नेता और कार्यकर्ता बीते कई दिनों से राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के दावेदार के तौर पर पेश करने की मांग उठा रहे थे, हालांकि ऐसा हुआ नहीं। लेकिन यह साफ हो गया कि लोकसभा चुनावों में कमान उन्हीं के हाथ में रहेगी।

राहुल ने कहा था कि वह कांग्रेस को इस तरह तब्दील कर देंगे कि सभी हैरान रह जाएंगे। इन्हीं बदलावों में लोगों के बीच जाना और मीडिया का सामना करना शामिल था। दस साल में राहुल ने पहला टीवी इंटरव्यू दिया, तो खूब शोर-शराबा हुआ।

लेकिन जब से यह इंटरव्यू हुआ, कांग्रेस परेशान है। इस साक्षात्कार में राहुल ने गुजरात दंगों के लिए मोदी को जिम्मेदार ठहराया, लेकिन 84 में दिल्ली में हुए सिख विरोधी दंगों के लिए अपनी सरकार का बचाव किया। यह बयान आया और बवाल मच गया। विरोध-प्रदर्शन हुए। सिख संगठन राहुल से उन नेताओं के नामों का खुलासा करने के लिए कह रहे हैं, जिनकी भूमिका दंगों में रही।