रिपब्लिक डे पर हमले की साजिश नाकामः IS के 2 शख्स अरेस्ट, NIA करेगी पूछताछ

नई दिल्ली. आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप में दो और लोगों को अरेस्ट किया गया। रिपब्लिक डे से पहले 30 सस्पेक्ट को अरेस्ट किया गया था। 26 जनवरी को विदेशी नागरिक इनके निशाने पर थे।
कहां से पकड़े गए आतंकी, क्या था इनका मकसद…
– इस ग्रुप के खिलाफ ऑपरेशन जारी रखते हुए सिक्युरिटी एजेंसियों ने एक शख्स को हैदराबाद और दूसरे को महाराष्ट्र से अरेस्ट किया है।
– जानकारी के मुताबिक दोनों को बुधवार को एनआईए को हैंडओवर कर दिया जाएगा। इन दोनों से खुफिया एजेंसियों पूछताछ कर चुकी हैं।
– एनआईए ने अभी तक 30 लोगों को अरेस्ट किया है जिनके ताल्लुकात ‘जैनूद-उल-खलीफा-ए-हिंद’ (आर्मी ऑफ द खलीफा इंडिया) से है। यह आईएसआईएस की एक विंग है।
– इन्हें आतंकियों घटनाओं की साजिश रचने के आरोप में देश के तमाम हिस्सों से पकड़ा गया है।
कैसे थे संपर्क में?
– एनआईए का दावा है कि आरोपी स्काइप, सिगनल, ट्रिलियन जैसी साइट्स के जरिए सीरिया में आतंकी संगठन से लगातार संपर्क में थे।
– ये अपने साथ लड़कों को शामिल करने के लिए उन्हें सोशल नेटवर्किंग साइट्स के जरिए मोटिवेट करते थे।
शेख को बगदादी से मिलते हैं ऑर्डर
– जिन्हें अरेस्ट किया गया है उनमें ‘अमीर’ नाम के ग्रुप का मेंबर मुद्दबिर मुश्ताक शेख भी शामिल है।
– अफसरों के मुताबिक, वह भारत और भारत के बाहर भी आईएस की मदद कर रहा था।
– बताया जाता है कि शेख को बगदादी खुद ऑर्डर देता था।
– आतंकी ग्रुप को बढ़ाने का मकसद यहां भी बगदादी के संगठन को बढ़ावा देना था।
अब तक कितने लोग अरेस्ट हुए हैं?
– पहले IS के संदिग्ध आतंकी अखलाक और उसके तीन साथियों को हरिद्वार से गिरफ्तार किया था। इनकी उम्र 19 से 23 साल के बीच है।
– कर्नाटक से सात IS सपोर्टर अरेस्ट हुए, इनमें एक केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है।
– महाराष्ट्र के ठाणे से एटीएस और एनआईए टीम ने एक संदिग्ध आतंकी को पकड़ा।
– वहीं, 4 लोगों को हैदराबाद से अरेस्ट किया गया।
– उधर, एक को लखनऊ से जबकि, दो लोगों को कुशीनगर से पकड़ा गया है। तीसरे आतंकी की तलाश की जा रही है।
अर्द्धकुंभ था निशाने पर
– हरिद्वार से अरेस्ट चार आतंकियों के ठिकानों पर दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को रेड मारी। जहां से बम बनाने का समान मिला है।
– तीन लोगों के नाम मोहम्मद ओसामा, अजीज और मेहराज हैं। मोहम्मद ओसामा और अजीज रुड़की में बीए के स्टूडेंट हैं। मेहराज आयुर्वेद की पढ़ाई कर रहा था।
– बताया जा रहा है कि ये चारों को आईएस ने हरिद्वार अर्द्धकुंभ में हमले के लिए एप्रोच किया था। यहां 8 फरवरी को ब्लास्ट करने की साजिश थी।
– चारों संदिग्धों को आईएस ने 26 जनवरी या उससे पहले दिल्ली-एनसीआर में मॉल्स को निशाना बनाने का फरमान जारी किया था।
– ये लोग सीरिया और इराक में आईएस हैंडलर्स से वीओआईपी, वॉट्सऐप और फेसबुक के जरिए टच में थे।
– रुड़की में पॉलिटेक्निक के स्टूडेंट अखलाक ने कुछ दिन पहले बाबरी मस्जिद कांड पर एक फेसबुक पोस्ट लिखा था।
– आईएस से जुड़े युसुफ नाम के शख्स ने उससे कॉन्टैक्ट किया और इराक-सीरिया में लड़ने के लिए कहा था।