रुपये की कमजोरी बढ़ी, 65.56 तक लुढ़का

Tatpar 22Aug 2013

एक बार फिर रुपये की शुरुआत तेज गिरावट के साथ ही हुई है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 79 पैसे की भारी कमजोरी के साथ 64.90 पर खुला। वहीं बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 64.11 पर बंद हुआ था।

हालांकि शुरुआती कारोबार में ही डॉलर के मुकाबले रुपये ने 65 का स्तर भी तोड़ दिया। और, अब डॉलर के मुकाबले रुपया अबतक के रिकॉर्ड निचले स्तर 65.56 तक टूट गया है।

रेलिगेयर सिक्योरिटीज की करेंसी एक्सपर्ट सुगंधा सचदेवा का कहना है कि आगे डॉलर के मुकाबले रुपये में 65.5 का स्तर देखने को मिल सकता है। दरअसल ऑयल इंपोर्टरों की डॉलर मांग बढ़ने से भी रुपये पर दबाव बढ़ रहा है। लेकिन निचले स्तरों से रुपये में सुधार की गुंजाइश बनी हुई है।

वहीं मैक्लाई फाइनेंशियल के डिप्टी सीईओ पार्थ भट्टाचार्य का कहना है कि फेड के मिनिट्स के चलते रुपये में गिरावट आई है। रुपये के लिए 64.30 के स्तर रेसिस्टेंस नजर आ रहा है, लेकिन ये स्तर टूटता है तो डॉलर के मुकाबले रुपया 67 के स्तर तक जाने की आशंका है।

मैक्वॉयरी के फॉरेक्स स्ट्रैटेजिस्ट निजाम इदरीस का कहना है कि डॉलर के मुकाबले रुपया 70 के स्तर तक जाने की आशंका है। अगले 3 महीने में रुपया 70 का स्तर छू सकता है। मौजूदा स्थिति में सुधार होने तक रुपये के लिए कोई स्तर देना काफी मुश्किल है। एक्सपोर्ट में सुधार और एफडीआई में बढ़ोतरी पर फोकस कर रहे हैं।

निजाम इदरीस के मुताबिक सरकार को कई बड़े कदम उठाने की जरूरत है ताकि निवेशक भारत में निवेश करें। वहीं अमेरिका में 10 साल की बॉन्ड यील्ड बढ़कर 3.25 फीसदी तक जाने की संभावना है।