रेल बजट : भोपाल को मिले तीन आरओबी, 3 ट्रेनों के कमर्शियल हाल्ट भी शुरू होंगे

भोपाल। रेलमंत्री सुरेश प्रभु रेल बजट पेश कर रहे हैं। हबीबगंज को देश का पहला मॉडल स्टेशन बनाने की बात उन्होंने फिर दोहराई। उन्हाेंने कहा कि हबीबगंज को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने के लिए फिर से निविदाएं बुलाई गई हैं। बजट में भोपाल-हबीबगंज के बीच 3 आरअोबी को मंजूरी मिल गई है, वहीं कई गाड़ियों के हॉल्ट भी मिले हैं। जानिए क्या-क्या मिला भोपाल को…
भोपाल को मिले कॉमर्शियल हॉल्ट
रेल बजट में भोपाल स्टेशन पर तीन ट्रेनों के कमर्शियल हाल्ट शुरू करने की घोषणा की गई है। ये ट्रेन तकनीकी कारणों से यहां रुकती थी लेकिन पैसेंजर कोटा नहीं था। रेल बजट में इंदौर से नागपुर के बीच सप्ताह में दो दिन चलने वाली 12913-12914 इंदौर-नागपुर-इंदौर त्रिशताब्दी एक्सप्रेस, 12923-12924 इंदौर-नागपुर-इंदौर त्रि शताब्दी एक्सप्रेस और 22679-22680 यशवंतपुर-कटरा-यशवंतपुर प्रीमियम साप्ताहिक एक्सप्रेस को भोपाल में कमर्शियल हाल्ट दे दिया है। अब इन ट्रेनों में यात्री रिजर्वेशन करवाकर सफर कर सकेंगे। अब तक इनका केवल टेक्निकल हाल्ट भोपाल में था, इस कारण यात्री उनमें बैठ नहीं सकते थे। इसके अलावा इटारसी में इन 12 ट्रेनों को भी कमर्शियल हाल्ट दिया गया है।
इटारसी में ग्रेड सेपरेटर भी स्वीकृत
इसके साथ ही बजट में इटारसी-खंडवा रूट पर करीब 12 किमी का ग्रेड सेपरेटर भी स्वीकृत हुआ है। लगभग 162 करोड़ रुपए में बनाए जाने वाले इस ग्रेड सेपरेटर के बन जाने के बाद राजधानी एक्सप्रेस सहित 20 ट्रेनों को इटारसी यार्ड में नहीं ले जाना पड़ेगा। ये ट्रेनें सीधी ही दक्षिण भारत की ओर रवाना की जा सकेंगी।
जबलपुर-इंदौर नई लाइन स्वीकृत
जबलपुर-इंदौर नई रेल लाइन भी: वहीं, बजट में जबलपुर से इंदौर के बीच 342 किमी की नई रेल लाइन को भी स्वीकृति मिल गई है। यह नई रेल लाइन गाडरवारा, उदयपुरा, बुदनी, नसरुल्लागंज, किन्नौर होते हुए इंदौर तक जाएगी। 4 हजार 320 करोड़ रुपए की लागत से बिछाई जाने वाली इस रेलवे लाइन से जबलपुर से इंदौर के बीच की दूरी करीब 100 किमी कम हो जाएगी।