लंदन को मिला पहला मुस्लिम मेयर, PAK मूल के इस लीडर की क्यों है मोदी विरोधी इमेज

लंदन.सादिक खान शुक्रवार रात लंदन के पहले मुस्लिम मेयर चुन लिए गए। लेबर पार्टी के खान ने कंजर्वेटिव पार्टी के जैक गोल्डस्मिथ को हरा दिया। उनकी मोदी विरोधी इमेज है। जब मोदी यूके आए थे तब उन्होंने उनकी अगवानी के प्रोग्राम में हिस्सा नहीं लिया था और उनका विरोध किया था। गोल्डस्मिथ ने इस इलेक्शन में मोदी कार्ड खेला था।
पाकिस्तान में एक ड्राइवर के बेटे हैं सादिक…
– चुनाव नतीजों का एलान होते वक्त सादिक के उनकी पत्नी सादिया भी मौजूद थीं।
– 45 साल के सादिक के सामने टोरी राइवल गोल्डस्मिथ के अलावा लिबरल डेमोक्रेट की कैरोलिन पिदगियॉन भी थे।
– सादिक को 57 पर्सेंट, जबकि गोल्डस्मिथ को 43 पर्सेंट ही वोट मिले।
– चुनाव जीतने के बाद खान ने कहा, ”डर हमें कभी महफूज नहीं रखता। दहशत हमें हमेशा कमजोर बनाती है। डर की सियासत का इस शहर में स्वागत नहीं है।”
– सादिक ने कंजर्वेटिव पार्टी के बोरिक जॉनसन को रिप्लेस किया है जो आठ साल से लंदन के मेयर थे।
– सादिक के विरोधी हिंदू और सिख वोटर्स को लुभाने के लिए नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल कर रहे थे। उन्हें मोदी विरोधी करार दिया गया था।
लंदन में ही जन्मे हैं खान
– सादिक पाकिस्तानी मूल के हैं। उनके पिता पाकिस्तान में ड्राइवर थे।
– 1970 में लंदन में जन्मे खान के सात भाई और एक बहन हैं।
– वे टूटिंग में पले-बढ़े। 24 साल की उम्र तक उन्होंने बेहद गरीब हालात में जिंदगी जी। उनके पिता रेड बस चलाते थे। उनके एक भाई मोटर मैकेनिक हैं।
– सादिक बॉक्सिंग सीख चुके हैं। लंदन मैराथन में हिस्सा ले चुके हैं। वे 15 साल की उम्र से लेबर पार्टी के मेंबर हैं।
– सादिक ने ह्यूमनराइट्स लॉयर के तौर पर करियर की शुरुआत की। फिर सांसद बने।
– वे 2005 से लेबर पार्टी के सांसद हैं।
– 2009-10 में वे गॉर्डन ब्राउन गवर्नमेंट में मिनिस्टर पद पर रह चुके हैं।
इन दो वजहों से विवादों में रहे
1 कट्टरपंथियों से रिश्ते
– सादिक खान नेशन ऑफ इस्लाम ग्रुप के लीडर बाबर अहमद काे रिप्रेजेंट करते थे। अहमद ने तालिबान को सपोर्ट करने की बात कबूली थी।
– इस वजह से अहमद को अमेरिका में जेल में डाला गया था। इस वजह से सादिक पर भी कट्टरपंथियों से रिश्ते रखने के आरोप लगे थे।
2 मोदी विरोधी इमेज
– जैक गोल्डस्मिथ ने मेयर के इलेक्शन में मोदी कार्ड खेला।
– उन्होंने एक पोस्टर छपवाया जिसमें एक तरफ सादिक खान की फोटो के साथ लिखा था कि खान ने यूके में मोदी की एंट्री पर बैन लगाने की मांग करने वाले लेबर पार्टी के लीडर का सपोर्ट किया था।
– खान पिछले साल वेम्बली स्टेडियम में हुए ‘यूके वेलकम्स मोदी’ इवेंट में भी नहीं गए थे।
– वहीं, गोल्डस्मिथ ने खुद की मोदी के साथ फोटो का पोस्टर छापते हुए लिखा था कि हमने मोदी का स्वागत किया था।
– उन्होंने कहा था कि मेयर बनने पर वे भारतीय कम्युनिटी की लूट-चोरी जैसी घटनाओं से हिफाजत करेंगे।
– उन्होंने यह भी लिखा था कि वे लंदन में दिवाली, नवरात्रि और जन्माष्टमी जैसे त्योहार मनाते आए हैं।
124 काउन्सिल के लिए हुई वोटिंग
– स्कॉटिश संसद, वेल्स की नेशनल असेंबली, नॉर्दन आयरलैंड असेंबली और इंग्लैंड की 124 काउन्सिल के लिए वोटिंग हुई।
– लंदन, ब्रिस्टल, लिवरपूल और साल्फोर्ड में मेयर के लिए वोटिंग हुई, जबकि ओगमोर और शेफील्ड ब्राइटसाइड में पार्लियामेंट के लिए बायइलेक्शन हुए।