ललित मोदी की मदद कर घिरीं सुषमा का लालू ने क्‍या कह किया बचाव, जानिए अभी

नई दिल्ली. करप्शन के आरोपी आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की कथित मदद के मामले में घिरीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बचाव किया है। उन्होंने कहा, ”यह बीजेपी के भीतर अंदरुनी विवाद का नतीजा है। मोदी सुषमा के कामकाज को पसंद नहीं करते, विदेश दौरों में उन्हें तवज्जों नहीं देते हैं। यह बीजेपी के लिए जांच का विषय है। सुषमा को अपना पक्ष रखने का पूरा मौका दिया जाना चाहिए। ”

अमित शाह के कहने पर सुषमा के बचाव में आई पार्टी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) की नोटिस पाने वाले ललित मोदी की मदद करने पर विपक्ष से लगातार इस्तीफे की मांग के बीच पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने इस संबंध में नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह से बात की। इसके बाद सुषमा के समर्थन में खुलकर आने का फैसला लिया। बता दें कि सुषमा और अमित शाह के बीच रिश्ते बहुत मधुर नहीं समझे जाते हैं। गुजरात में फर्जी मुठभेड़ मामले में जब अमित शाह गिरफ्तार हुए थे तो सुषमा स्वराज ने उन्हें पार्टी से निकालने की मांग भी की थी।

सुषमा ने किया पत्रकार पर पलटवार

ललित मोदी की कथित मदद मामले में उठ रहे सवालों के बीच विदेश मंत्री ने सुषमा ने पत्रकार पर सवाल उठाया है। उन्होंने सोमवार को एक ट्वीट किया, ”देखिए कौन उपदेश दे रहा है, नविका कुमार।” नविका टाइम्स नाऊ की पत्रकार हैं। इससे पहले बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद ने टाइम्स नाऊ के ही पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर बीजेपी नेताओं के खिलाफ साजिश का आरोप लगाया था। इस बीच, सुषमा अपने घर से निकलकर कर जवाहर भवन पहुंचीं हैं। जानकारी के मुताबिक, इस विवाद के बाद दिल्ली पुलिस को विदेश मंत्री की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।

पुर्तगाल में नहीं थी कंसेट की जरूरत

ललित मोदी ने पत्नी के कैंसर का ऑपरेशन कराने के लिए पुर्तगाल में बतौर कंसेंट मौजूद रहने की इजाजत मांगी थी, जबकि वहां उनके मौजूद रहने की कानून कोई जरूरत नहीं थी। जानकारी के मुताबिक, पुर्तगाल के नियम के तहत 14 साल से ज्यादा उम्र का कोई भी व्यक्ति अपना कंसेंट खुद दे सकता है, उसके लिए किसी दूसरे की जरूरत नहीं होती है। बता दें कि सुषमा ने अपनी सफाई में कहा था कि ललित मोदी ने उनसे 2014 जुलाई में बात की थी और वह पत्नी के ऑपरेशन के लिए बतौर कंसेंट पुर्तगाल जाना चाहते थे। इसी के संबंध में मैंने ब्रिटेन सांसद से बात की थी।

क्या है सुषमा पर आरोप
अंग्रेजी चैनल ‘टाइम्स नाऊ’ की रिपोर्ट के मुताबिक 2013 में लोकसभा में विपक्ष की नेता रहते हुए सुषमा स्वराज की ओर से ललित मोदी से ब्रिटेन में संपर्क साधा गया था। सुषमा के पति स्वराज कौशल उस वक्त ललित मोदी के जरिए ब्रिटेन में अपने भतीजे ज्योर्तिमय कौशल का एडमिशन कराना चाहते थे। आरोप है कि ललित मोदी की मदद से यह एडमिशन हो भी गया था। इसी के बाद सुषमा जब 2014 में मंत्री बनी तो ललित मोदी ने उनसे ब्रिटेन से निकलने में मदद करने के लिए संपर्क किया। बतातें चलें कि ब्रिटेन में लंबे समय से सांसद रहे भारतीय मूल के सांसद कीथ वॉज भी आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी की मदद करने के मामले में जांच का सामना कर रहे हैं। हालांकि, वॉज ने भी किसी गलती से इनकार किया है और कहा है कि वह ललित मोदी के मामले को और मामलों की तरह ही देख रहे थे।

भाजपा सांसद ने बताया साजिश

भाजपा सांसद कीर्ति आजाद ने पूरे मामले को सुषमा स्‍वराज के खिलाफ अंदरूनी साजिश करार दिया है। उनका मानना है कि बीजेपी के आस्तीन के सांप और एक पत्रकार बीजेपी नेताओं के खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *