लालू बोले- डिग्री होगी फर्जी, पर स्‍मृति ईरानी असली हैं, मेरी बड़ी इज्‍जत करती हैं

पटना. मोदी सरकार में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री (एचआरडी) मंत्री स्मृति ईरानी की डिग्री पर उठ रहे सवालों के बीच आरजेडी प्रेसिडेंट लालू प्रसाद उनके बचाव में आए हैं। पटना में लालू ने स्मृति के बचाव में कहा, ”डिग्री फेक हो सकती है, लेकिन वह (ईरानी) नहीं। हमें डिग्री से क्या मतलब? ईरानी असली हैं। वह एक महिला हैं। उन्होंने ‘सास भी कभी बहू थी’ जैसे टीवी सीरियल में काम किया है। वह मेरी बड़ी इज्जत करती हैं।” बता दें कि पिछले दिनों दिल्ली की एक अदालत ने ईरानी की डिग्री पर उठाए जा रहे सवालों की एक याचिका पर सुनवाई को मंजूरी दी है।
क्या है स्मृति डिग्री विवाद
स्मृति के खिलाफ शिकायत है कि उन्होंने बीते 11 साल में चुनाव आयोग को दिए तीन हलफनामों में अपनी एजुकेशन के बारे में गलत जानकारी दी। फ्रीलांस लेखक और शिकायतकर्ता अहमर खान की अर्जी के मुताबिक, स्मृति ने लोकसभा चुनाव और राज्यसभा चुनाव के दाैरान दाखिल तीन एफिडेविट में एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के बारे में गलत जानकारी दी। 24 जून को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सुनवाई करने का फैसला किया है।
लालू ने कहा- केंद्र सरकार फर्जी है
पटना में पूर्णिया जिले के पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करते हुए लालू ने कहा कि केंद्र में पूरी सरकार ही फेक है। उन्होंने कहा, ”केंद्र सरकार 100 स्मार्ट सिटी बनाने की बात कह रही है, लेकिन देखते जाइए कि वे लोग क्या कर पाते हैं। उन्होंने बुलेट ट्रेन चलाने का वादा किया है, लेकिन 60 हजार करोड़ रुपए कहां से आएंगे?”
‘शहरों को दुल्हन की तरह न सजाएं, गांवों को बनाएं’
आरजेडी प्रमुख ने मोदी सरकार को सलाह देते हुए कहा कि शहरों को दुल्हन की तरह सजाने की बजाए गांवों के निर्माण पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई ‘आदर्श ग्राम योजना’ ठप पड़ गई है। इस योजना के लिए पैसे नहीं हैं। गंगा सफाई अभियान के साथ भी यही हो रहा है।
बिहार में बीजेपी को सत्ता तक नहीं पहुंचने देंगे
लालू प्रसाद ने कहा, ”बीजेपी बिहार में किसी भी तरह सत्ता हथियाना चाहती है, लेकिन हम विधानसभा चुनाव में उनके प्लान को फेल करेंगे। बिहार में ‘अबकी बार नीतीश कुमार’, इसे हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वीकार कर लिया है और हम चुनाव प्रचार में जुट गए हैं।”