लालू यादव के 12 ठिकानों पर CBI का छापा, होटल टेंडर में गड़बड़ी का आरोप

नई दिल्ली.सीबीआई ने शुक्रवार को आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के 12 ठिकानों पर छापा मारा। पटना में लालू-राबड़ी के घर की भी तलाशी ली गई। सीबीआई ने पूर्व रेलमंत्री लालू यादव, राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी और आईआरसीटीसी के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोप है कि 2006 में, जब लालू रेलमंत्री थे, तब रांची और पुरी के टेंडर जारी करने में गड़बड़ी की गई। फिलहाल चारा घोटाला की सुनवाई के लिए लालू रांची गए हैं। बता दें कि 1000 करोड़ की बेनामी प्रॉपर्टी के मामले में 16 मई को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने लालू से जुड़े 22 रियल एस्टेट कारोबारियों के यहां छापेमारी की थी।
होटल चेन को फायदा पहुंचाने का आरोप…
आरोप है कि 2006 में रेलमंत्री रहते हुए लालू ने एक होटल चेन को कथित तौर पर फायदा पहुंचाया था। इसके एवज में होटल चलाने वाली कंपनी ने उन्हें पटना में करोड़ों की जमीन दी। अब इसी जमीन पर बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनाया जा रहा है।
– आईआरसीटीसी के पूर्व डायरेक्टर के घर भी जांच एजेंसी की टीम पहुंची। लालू के दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुड़गांव समेत 12 ठिकानों पर छापेमारी चल रही है।
– दिल्ली में न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के एक होटल, पुरी और रांची में चाणक्य बीएनआर होटल, पटना में 10 सर्कुलर रोड स्थित लालू के घर पर सीबीआई ने तलाशी ली है।
– बता दें कि लालू यादव की बेटी मीसा भारती और उनके पति के खिलाफ भी बेनामी प्रॉपर्टी की कार्रवाई चल रही है। कुछ दिन पहले दोनों ईडी-इनकम टैक्स के सामने पेश हुए थे।
छापेमारी पर किसने क्या कहा?
– आरजेडी स्पोक्सपर्सन, प्रगति ने कहा- ”हमें मालूम था कि बीजेपी हम पर सीबीआई-इनकम टैक्स का डंडा चलाएगी। हम इससे डरने वाले नहीं है। ये सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है।”
– आरजेडी नेता मनोज झा ने कहा- ”आज लोकतंत्र का एक काला दिन है। हम इससे डरने वाले नहीं हैं। हम कानूनी और राजनीतिक तरीके से लड़ेंगे। ये विपक्ष को साधने के अलावा कुछ नहीं है।”
– बीजेपी सांसद, गिरिराज सिंह ने कहा- ”कौन-सी सच्चाई और कौन-सा बदला। क्या चारा घोटाले का सच आप सब भूल गए। नीतीश कुमार पहले कह रहे थे कि बीजेपी केवल प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी या कुछ सच सामने आएगा। अब कानून अपना काम कर रहा है। आपके डिप्टी सीएम पर अब एफआईआर हुई है। नीतीश कुमार को अब चुप्पी तोड़नी होगी।”
दो महीने पहले 100 अफसरों की टीम ने की थी रेड
– मई में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बेनामी प्रॉपर्टी के शक में दिल्ली-एनसीआर में बड़ी कार्रवाई की थी। इस दौरान लालू यादव से जुड़े कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी हुई थी।
– आईटी अफसरों ने बताया था, ”दिल्ली-गुड़गांव और आसपास के इलाकों के 22 ठिकानों पर छापेमारी हुई। लालू यादव के करीबी रियल एस्टेट कारोबारियों के ठिकानों की तलाशी ली गई। इसमें आरजेडी सांसद प्रेमचंद गुप्ता भी शामिल हैं।”
– ”लालू यादव पर बेनामी प्रॉपर्टी और टैक्स चोरी के आरोप लगे हैं। डिपार्टमेंट को शक है कि बेनामी प्रॉपर्टी 1000 करोड़ की हो सकती है। लालू से जुड़े कारोबारियों के यहां कार्रवाई की गई। रेड में पुलिस के साथ हमारे 100 अफसर शामिल थे।”
BJP ने लगाए थे आरोप
1# कारोबारी को रेलवे के होटल दिए, बदले में 200 करोड़ की जमीन ली

– सुशील मोदी ने दावा किया था, ”रेल मंत्री रहते हुए लालू ने झारखंड के रांची और ओडिशा के पुरी में रेलवे के दो होटल गलत तरीके से कारोबारी हर्ष कोचर को दिए थे। बदले में पटना में 200 करोड़ रुपए कीमत की 2 एकड़ से ज्यादा जमीन बेनामी तरीके से डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम करवा ली। तब इस कंपनी का मालिकाना हक आरजेडी सांसद प्रेम चंद्र गुप्ता के पास था।”
2# अंडर कंस्ट्रक्शन मॉल की मिट्टी गलत तरीके से चिड़ियाघर को बेची
-बीजेपी नेता ने आगे अारोप लगाया,”पटना की इसी जमीन पर 7.5 लाख स्क्वेयर फीट में बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनाया जा रहा है। लालू के बेटों ने इस अंडर कंस्ट्रक्शन मॉल की मिट्टी गलत तरीके से चिड़ियाघर को बेची है।”