वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2020: लगातार दूसरी बार आईआईटी बॉम्बे भारत का सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थान, 152वां रैंक हासिल किया

 लगातार दूसरी बार आईआईटी बॉम्बे देश का सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थान बना है. वहीं विश्व रैंकिंग में भी 10 पायदान की छलांग लगाते हुए सूची में 152वां रैंक हासिल किया है. 2019 में संस्थान 162वें रैंक पर था. क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2020 में आईआईटी दिल्ली, कानपुर, रुड़की, खड्गपुर की रैंकिंग में गिरावट आई है. आईआईएससी बंगलूरू की ओवरऑल रैंकिंग में लगातार गिरावट आ रही है, लेकिन रिसर्च के क्षेत्र में इस रैंकिंग में उसका दुनियाभर में दूसरा रैंक है.

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में भारत के 23 संस्थानों को जगह मिली है. जिसमें आईआईटी बॉम्बे ने 152वां, आईआईटी दिल्ली ने 182वां और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बैंगलोर 184वां रैंक हांसिल किया है. पिछले वर्ष की तुलना में 23 में से चार भारतीय संस्थानों ने अपनी स्थिति में सुधार किया है और सात संस्थानों की रैंकिंग गिरी है. ओपी जिंदल ग्लोबल इस साल भारतीय संस्थानों से एकमात्र नया प्रवेश है.

भारत के अन्य शिक्षण संस्थानों में आईआईटी मद्रास 271वां, आईआईटी कानपुर 291वां, आईआईटी रुड़की 383वां, दिल्ली विश्वविद्यालय 474 और आईआईटी गुवाहाटी 491वां रैक पर है.

2020 रैंकिंग में एमआईटी पहले, स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी दूसरे और हावर्ड यूनिवर्सिटी तीसरे स्थान पर है. यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड पांचवें से चौथे स्थान पर पहुंच गई. कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी चौथी रैंक से पांचवीं पर पहुंच गई है. यूरोप की प्रसिद्ध ईटीएच ज्यूरिच यूनिवर्सिटी ने यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज को पछाड़ते हुए छठा रैंक हासिल किया है.

भारत की रैंकिंग में नंबर वन जेएनयू क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2020 से बाहर हो चुका है. दिल्ली विश्वविद्यालय की रैंकिंग में 13 पायदान का सुधार हुआ है. डीयू का 2019 में 487वां रैंक था, जो इस बार 474 पर है. जामिया मिल्लिया इस्लामिया, ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी की रैंकिंग 751-800 के बीच है. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंसेज, थापर यूनिवर्सिटी पटियाला, वीआईटी, बॉम्बे यूनिवर्सिटी, कोलकाता यूनिवर्सिटी पिछली रैंकिंग की तर्ज पर 801-1000 श्रेणी में शामिल हैं.