वर्ष 1998 के परिणामों का रिकॉर्ड तोड़ने का दावा

Tatpar 05/12/2013

जयपुर। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस के विधानसभा प्रत्याशियों से बुधवार को लगातार दूसरे दिन फीडबैक लेते हुए आला नेताओं ने संभावित नतीजों की रिपोर्ट तैयार कर ली है। रिपोर्ट के बाद आला नेताओं ने कांग्रेस की जीत का संभावित आंकड़ा स्पष्ट न बताते हुए राज्य में वर्ष 1998 के परिणामों का रिकॉर्ड तोड़ने का दावा किया है। बैठक में यह भी महत्वपूर्ण निर्णय हुआ है कि चुनावों में अपेक्षित सहयोग नहीं करने वाले सांसदों की शिकायतों की पुष्टि होने पर संगठन कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें लोकसभा चुनावों में मौका नहीं देगा। राज्य प्रभारी गुरुदास कामत, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष डॉ. चन्द्रभान ने दो दिनों में करीब 180 प्रत्याशियों से फीडबैक जुटाया है। करीब बीस प्रत्याशियों ने पारिवारिक और अन्य कारणों से नहीं पहुंच पाना बताया है। पार्टी मुख्यालय में दूसरे दिन जयपुर संभाग के अलावा अन्य संभागों के शेष प्रत्याशियों को फीडबैक रखने का मौका दिया गया। लगातार दूसरे दिन भी प्रत्याशियों के माध्यम से कई सीटों पर सांसदों और क्षेत्रीय कांग्रेसी पदाधिकारियों का अपेक्षित सहयोग नहीं मिलने की शिकायतें सामने आर्इं। जयपुर संभाग के कई प्रत्याशियों ने ठोस जीत का दावे पेश किए तो कुछ ने अन्य दलों के साथ सीधी या त्रिकोणीय मुकाबले जैसी स्थितियां बतार्इं। करीब 180 प्रत्याशियों से फीडबैक के बाद संभावित नतीजों की रिपोर्ट का अनुमान तैयार कर लिया गया है, जिसे कांग्रेस के राष्टÑीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भेजा जाएगा। शिकायत सही तो सांसद नहीं लड़ पाएंगे लोकसभा चुनाव बैठक में प्रत्याशियों से बातचीत में यह निष्कर्ष भी निकाला गया कि प्रत्याशियों के सांसदों और क्षेत्रीय कांग्रेस पदाधिकारियों पर असहयोग के लगाए आरोप यदि जांच में सही पाए गए तो संगठन अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगा। यदि पदाधिकारी के खिलाफ शिकायत की पुष्टि हुई तो उसे पार्टी से निकाला जाएगा और फिर वापस नहीं लिया जाएगा। सांसदों के खिलाफ पुष्टि होने पर उन्हें लोकसभा चुनावों में मौके से वंचित कर दिया जाएगा। ये बोले नेता सभी से बातें हो गई हैं। फीडबैक के मुताबिक जनता ने कांग्रेस का साथ दिया है और कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिलेगा। आगामी आठ तारीख को सब स्पष्ट हो जाएगा। हम वर्ष 1998 के चुनाव परिणामों के कांग्रेस का ही 156 सीटों का रिकॉर्ड तोडेंÞगे। मुख्यमंत्री पद के दावेदार का अभी कोई मुद्दा नहीं है। अशोक गहलोत यहां के दबंग नेता है और उन्होंने राजस्थान में बहुत काम करके दिखाया है। -गुरुदास कामत, राज्य प्रभारी, कांग्रेस फीडबैक बहुत अच्छा रहा है। चुनाव जीतना हमारी पहली प्राथमिकता है। कांग्रेस के पक्ष में अल्पसंख्यकों ने इस बार भी बहुत अच्छे वोट दिए हैं और राजस्थान में मोदी फैक्टर बिल्कुल उल्टा पड़ेगा। कांग्रेस ने राजस्थान में बहुत अच्छे काम किए हैं, यदि अभी भी सरकार नहीं आती है तो राजस्थान में कोई भी वेलफेयर नहीं कर पाएगी। राजस्थान में भ्रष्टाचार की हदें इतनी पार हो जाएंगी कि सोच भी नहीं सकते। -अशोक गहलोत, मुख्यमंत्री राजस्थान हम चुनाव जीतकर आएंगे। फीडबैक बैठक में कुछ पदाधिकारियों और नेताओं की शिकायतें हुई हैं, जिनके बारे में राज्य प्रभारी गुरुदास कामत दिल्ली रिपोर्ट सौंपेंगे। फीडबैक में कांग्रेस का पॉजिटिव रुझान है। मीडिया में आ रहे सर्वे और कयासों में दम नहीं है। चुनावों में जनता ने सरकार की सामाजिक नीतियों में पूरा भरोसा जताया है। अनुमान के मुताबिक कांग्रेस भाजपा से ज्यादा सीटें जीत कर आएगी और राज्य में 15 से 20 निर्दलीय जीत कर आ सकते हैं। बागियों के संबंध में डीसीसी और बीसीसी पदाधिकारियों से बातचीत की जाएगी। डॉ. चन्द्रभान, प्रदेशाध्यक्ष, कांग्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *