विजयवर्गीय की रैली में लगे पोस्टर पर पुलिस का ऐतराज, ममता का चेहरा ढंका गया

इंदौर. भाजपा द्वारा इंदौर में किसान आक्रोश रैली निकाली जा रही है। रैली में लगे एक स्वागत मंच पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का एक पोस्टर लगा था जिस पर पुलिस ने आपत्ति जताई। पुलिस की आपत्ति के बाद पोस्टर में लगे ममता बनर्जी के चेहरे को ढांक दिया गया।

लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा को 18 सीट पर विजय मिली है। पार्टी ने पश्चिम बंगाल का प्रभार कैलाश विजयवर्गीय को सौंपा था। चुनाव परिणाम के बाद मंगलवार को कैलाश पहली बार इंदौर पहुंचे। उनके स्वागत के लिए रैली का आयोजन किया गया जिसे किसान आक्रोश रैली नाम दिया गया।


विजयवर्गीय के स्वागत के लिए बंबई बाजार के पास बनाए गए एक मंच पर लगे पोस्टर पर पुलिस ने ऐतराज जताया। पोस्टर में कैलाश विजयवर्गीय को एक जंगली जानवर (चीता) को पकड़े हुए बताया गया था। इस जानवर के चेहरे के स्थान पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का चेहरा लगा दिया गया था। पुलिस ने पोस्टर पर आपत्ति ली और इसे बदलने को कहा। पुलिस की आपत्ति के बाद पोस्टर में दर्शाए गए ममता के चेहरे को ढांक दिया गया।

भाजपा की किसान आक्रोश रैली राजमोहल्ला स्थित भगतसिंह प्रतिमा से प्रारंभ हुई जो मालगंज, नर्सिंह बाजार, बंबई बाजार, गुरुद्वारा चौराहा, हरसिद्धि होते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय तक पहुंचेगी।

बंगाल में बम-पिस्तौल की सरकार

विजयवर्गीय ने इंदौर एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चा के दौरान बंगाल की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल में बम-पिस्तौल वालों की सरकार चल रही है। एनआईएन यदि वहां जांच करें तो टीएमसी नेताओं के यहां हथियारों का जखीरा बरामद हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *