विपक्ष से बोले पीएम मोदी – हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार, मॉब लिंचिंग पर कई दलों ने दिया स्थगन प्रस्ताव

संसद का मॉनसून सत्र आज से शुरू हो गया है। सत्र में हिस्सा लेने के लिए संसद भवन पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वो सदम में विपक्ष के हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा उन्हें उम्मीद है कि सभी राजनीतिक पार्टियां सदन के समय का सदुपयोग देश के महत्वपूर्ण कामों को पूरा करने में करेगी।

हालांकि देश में बढ़ते मॉब लिंचिंग को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की पूरी तैयारी में है। इसी के तहत जहां ममता बनर्जी पार्टी टीएमसी और सीपीआई ने राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है वहीं लालू की पार्टी ने आरजेडी में इसी मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव दिया है।

मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर संसद में हंगामा होना तय माना जा रहा है। हालांकि  संसद सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए कल केंद्र सरकार ने सर्वदलीय बैठक भी बुलाई थी और संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा था कि विपक्षी दलों ने सदन में महत्वपूर्म बिलों को पास कराने और कई कानूनों के संशोधन में सहयोग करने का भरोसा दिया है।

मॉनसून सत्र के पहले दिन ही कांग्रेस मॉब लिंचिंग और महिला सुरक्षा जैसे अहम मुद्दों को सदन में उठा सकती है।

Live Updates

# क्लासिकल डांसर सोनल मानसिंह, आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा और रघुनाथ महापात्रा ने राज्यसभा के नए सदस्य के तौर पर ली शपथ

मॉनसून सत्र शुरू होने से ठीक पहले पीएम मोदी ने कहा कि देश के कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होनी जरूरी है। जितनी चर्चा होगी उतना ही देश को फायदा होगा, मैं आशा करता हूं कि सभी राजनीतिक दल सदमें समय का सर्वाधिक सदुपयोग देश के महत्वपूर्ण कामों को आगे बढ़ाने में करेंगे

टीएससी और सीपीआई के बाद राजेडी सांसद जेपी यादव ने भी मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

मॉब लिंचिंग और स्वामी अग्निवेश की पिटाई के मुद्दे पर सीपीआई सांसद डी राजा ने राज्यसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

# मॉनसून सत्र में हिस्सा लेने के लिए संसद भवन पहुंचे पीएम मोदी

# YSR कांग्रेस के नेता संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे कर रहे प्रदर्शन, आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग

# मॉनसून सत्र के पहले दिन संसद की कार्यवाही में हिस्सा लेने पहुंचे गृह मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

राज्यसभा में शून्यकाल में मॉब लिंचिंग पर सवाल पूछने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने दिया नोटिस

मॉनसून सत्र को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘कांग्रेस इस सत्र के दौरान मॉब लिंचिंग और महिला सुरक्षा समेत कई मुद्दों को उठाएगी लेकिन सत्र को सफल बनाने के लिए सरकार का सहयोग भी करेगी। उन्होंने कहा, हमें उम्मीद है कि देश के महत्वपूर्ण मुद्दे उठाने दिए जाएंगे।’

खड़गे ने कहा, ‘हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि सरकार पिछले चार सालों में अपने वादे पूरे करने में नाकाम रही है।’

कांग्रेस के लोकसभा सांसद ने मॉब लिंचिंग के बढ़ते मामलों के लिए सरकार की आलोचना करते हुए कहा, ‘लिंचिंग, गोरक्षा और लिंचिंग के आरोपियों का सम्मान देश भर में सामान्य हो गया है। इस सत्र में हम इस मुद्दे पर चर्चा करना चाहते हैं।’

मोदी सरकार की असफलताओं और तमाम दूसरे मुद्दों पर एनडीए की सहयोगी रह चुकी तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है। टीडीपी ने मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर दूसरी विपक्षी पार्टियों से समर्थन मांगा है। टीडीपी ने अविश्वास प्रस्ताव के लिए एक नोटिस दिया है।

टीडीपी के तीन सांसदों का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को हैदराबाद से पटना पहुंचा था। तीनों सांसद राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद से मिले।

उन्होंने लालू से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ संसद के मॉनसून सत्र में लाए जाने वाले अविश्वास प्रस्ताव पर आरजेडी सांसदों का समर्थन मांगा और टीडीपी की लड़ाई में सहयोग करने की अपील की थी।

मुलाकात के बाद विधायक भोला यादव ने कहा कि उनकी पार्टी टीडीपी के साथ है। उन्होंने कहा कि संसद में अविश्वास प्रस्ताव का आरजेडी समर्थन करेगी।