व्यापार युद्ध को लेकर घरेलू शेयर बाजारों में शुरुआती कारोबार में उथल-पुथल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा चीन के अतिरिक्त 200 अरब डॉलर के आयात पर नये शुल्क लगाने की घोषणा के बाद विश्व की शीर्ष दो अर्थव्यवस्थाओं के बीच जारी व्यापार युद्ध के नये शिखर पर पहुंच जाने से मंगलवार को शुरुआती कारोबार में घरेलू शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव रहा।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में एक समय 159.93 अंक यानी 0.42 प्रतिशत तक की बढ़त में रहा लेकिन जल्दी ही 37.10 अंक यानी 0.10 प्रतिशत गिरकर 37,548.41 अंक पर आ गया।

सेंसेक्स सोमवार को 505.13 अंक की गिरावट में रहा था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती कारोबार में 10.60अंक यानी 0.09 प्रतिशत गिरकर 11,367.15 अंक पर रहा।

ट्रंप द्वारा चीन के आयात पर नये शुल्क की घोषणा के बाद निवेशकों ने सतर्कता बरती। ट्रंप ने कहा कि यह शुल्क 24 सितंबर से प्रभावी होगा और इसकी दर 10 प्रतिशत होगी। अगले साल की शुरुआत यानी एक जनवरी 2019 से यह शुल्क बढ़कर 25 प्रतिशत हो जाएगा।

वेदांता, टाटा मोटर्स, पावरग्रिड, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, विप्रो, भारती एयरटेल, इंफोसिस और एचडीएफसी में 1.60 प्रतिशत तक की गिरावट रही।

वहीं हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, यस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, सन फार्मा, ओएनजीसी, टाटा स्टील और हीरो मोटोकॉर्प 3.06 प्रतिशत तक की बढ़त में रहे।

सरकार द्वारा तीन बैंकों के विलय की सोमवार को घोषणा के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयर करीब 10 प्रतिशत गिर गये जबकि विजया बैंक और देना बैंक के शेयरों में क्रमश: तीन प्रतिशत और 20 प्रतिशत तक की तेजी रही।

प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने मंगलवार को 180.36 करोड़ रुपये के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने भी 106.54 करोड़ के शेयर बेचे।

इस बीच एशियाई बाजारों में शुरुआती कारोबार में जापान का निक्की 1.07 प्रतिशत मजबूत हो गया। हालांकि हांग कांग के हैंग सेंग में 0.79 प्रतिशत और चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.12 प्रतिशत की गिरावट रही।

अमेरिका का डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज सोमवार को 0.35 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ था।