शहीदों के साथ बर्बरता के बाद J&K में एंटी-टेरर ऑपरेशन, 20 गांव खाली कराए

श्रीनगर. हाल में शहीदों के शवों के साथ पाक आर्मी की बर्बरता के बाद सिक्युरिटी फोर्सेस एक्टिव हो गई हैं। आर्मी ने जम्मू-कश्मीर के शोपियां के 20 से ज्यादा गांवों को खाली करा लिया है। सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। बता दें कि 1 मई को पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाक ने सीजफायर वॉयलेशन किया। इसके बाद आतंकियों के साथ मिलकर पाक आर्मी ने LoC पार कर 2 शहीदों के सिर काट लिए। सोमवार को ही आतंकियों के एक कैश वैन पर किए हमले में 5 पुलिस जवान शहीद हो गए, 2 बैंक अफसरों की भी मौत हो गई थी।
आतंकियों ने एक पुलिस पोस्ट पर हमला किया था…
– न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक, 2 मई को संदिग्ध आतंकियों ने शोपियां में एक पुलिस पोस्ट पर हमला किया था। 4 इंसास और एक एके-47 राइफल लूटकर ले गए थे।
– इसके बाद 3 मई को पुलवामा में बैंक डकैती हुईं। आतंकियों ने बैंक में हमला कर 4 लाख रुपए लूट लिए। यहां के एसपी मोहम्मद भट की मानें तो शुरुआती जांच बताती है कि डकैतियों में लश्कर-ए-तैयबा का हाथ था।
– भट के मुताबिक. “अब तक हम पदगामपोरा और खागपुरा से एक-एक आतंकी पकड़ चुके हैं। इससे साबित होता है कि घटनाओं में लश्कर का हाथ था।”
– “ये भी साफ है कि आतंकी संगठनों के पास पैसे की कमी है। हम ये भी देख रहे हैं कि आतंकी कई मॉडर्न गैजेट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारी जांच लगातार जारी है।”
1 मई को पाक ने किया हमला
– पाकिस्तानी आर्मी ने सोमवार को LoC पार की। पुंछ में भारतीय इलाके में 250 मीटर अंदर तक घुसी पाक बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने आर्मी-बीएसएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया। इसके बाद हमले में शहीद 2 भारतीय जवानों के सिर काट लिए।
– बता दें कि पहले भी भारतीय सैनिकों के शवों के साथ बर्बरता हुई है और हर बार इसके लिए (BAT) को जिम्मेदार ठहराया गया।
क्या बोले जेटली?
– अरुण जेटली ने कहा, “पाकिस्तान के इनकार की कोई विश्वसनीयता नहीं है। ये घटना के हालात साफ इशारा करते हैं कि पहले हमारे जवानों की हत्या और फिर उनके शवों के साथ बर्बरता में PAK आर्मी पूरी तरह शामिल थी।”
– “दो बॉर्डर जो एक-दूसरे से कुछ ही मीटर की दूरी पर हैं। यहां सिक्युरिटी बहुत ज्यादा है। ऐसी जगह पर इस तरह की करतूत को अंजाम देना बिना PAK आर्मी की मदद, उसके पार्टिसिपेशन और एक्टिव इन्वॉल्वमेंट के संभव नहीं है।”
– फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन गोपाल बागले ने बुधवार को कहा था, “ सरकार के पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि हमारे सैनिकों के साथ बर्बरता पाकिस्तानी आर्मी ने ही की। एलओसी से पाकिस्तान की तरफ जाते खून के धब्बे (blood trail) बताते हैं कि घुसपैठिए भारतीय सीमा में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से ही घुसे थे। और वहीं लौट गए।”
– “शहीदों के सिर काटे जाने की घटना पर भारत में जो गुस्सा है, उसे पाकिस्तान हाईकमिश्नर अब्दुल बासित को तलब कर बता दिया गया है। उम्मीद है कि वो अपनी सरकार को इस बारे में बताएंगे। ये उकसाने वाली घटना है।”
– “पाकिस्तान सेना जो हरकत कर रही थी, उसे कवर करने के लिए ये गोलीबारी की जा रही थी। हमारे जवानों के खून के सैंपल इकट्ठा किए गए हैं। रोजा नाले में ब्लड ट्रेल मिली है।”