नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा के लिए नजफगढ़ में सभा की। उन्होंने कहा कि अपने 56 साल के जीवन में अरविंद केजरीवाल जैसा झूठा इंसान नहीं देखा। केजरीवाल ने हमेशा बंगला और कार नहीं लेने की बात की, लेकिन उनके पास दोनों है। 

शाह ने कहा, “जब आप 8 फरवरी को वोट करेंगे तो आप यह मत सोचना कि आपका मत सिर्फ एक विधायक बनाएगा। एक-एक वोट कीमती है। आपके एक वोट से पूरे देश में यह संदेश जाना चाहिए कि दिल्ली की जनता शाहीन बाग के साथ है या भारत माता के बेटे के साथ। केजरीवाल और कांग्रेस ने लोगों को नागरिकता कानून के खिलाफ उकसाया। ये लोग कहते हैं कि मैं शाहीन बाग के साथ हूं। मैं फिर से केजरीवाल से पूछता हूं कि आप दिल्ली के लोगों को बताएं कि क्या आप शाहीन बाग के साथ है?” 

‘वादे पूरे करने में नाकाम रहे’

शाह ने कहा कि दिल्ली में ऐसी सरकार है, जिसने 5 साल में झूठ का महल तैयार कर लिया है, लेकिन जब केजरीवाल की पोल खुल जाती है तो कहते हैं भाजपा वाले दिल्ली का अपमान कर रहे हैं। केजरीवाल ने एक हजार नए स्कूल बनाने का वादा किया था। स्कूल तो बने नहीं, लेकिन दिल्ली सरकार ने कई इमारतों को खतरनाक बताकर गिराने की सिफारिश की है। केजरीवाल सरकार ने हजारों बच्चों की जान जोखिम में डाली और रोज वर्ल्ड स्टैंडर्ड स्कूल के झूठे ट्वीट करते हैं।

दिल्ली में नफरत की जीत नहीं चाहते: राजनाथ

वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक सभा में कहा कि भाजपा दिल्ली में नफरत की सवारी नहीं करना चाहती और इस तरह की जीत पार्टी के लिए भी अस्वीकार्य होगी। नागरिकता संशोधन कानून के तहत भारत के नागरिकों को घबराने की जरूरत नहीं है। मैं अपने मुस्‍लिम भाई-बहनों से कहना चाहता हूं कि आप हमें वोट दें या नहीं दें, लेकिन हमारी मंशा पर शक मत करिए। हमारी नीयत साफ है और आपको कोई नहीं छू सकता।

शाहीन बाग में महिलाएं और बुजुर्ग धरने पर बैठे
शाहीन बाग में सीएए और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन को 40 से ज्यादा दिन बीत गए हैं। धरने पर बैठे लोगों में ज्यादातर महिलाएं हैं। कई बच्चे और बुजुर्ग भी हैं। यहां सीएए के खिलाफ 15 दिसंबर से प्रदर्शन चल रहा है।

दिल्ली में 8 फरवरी को वोटिंग
दिल्ली में 8 फरवरी को 70 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग होगी। यहां नतीजे 11 फरवरी को आएंगे। 2015 के चुनाव में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को 70 में से 67 सीटें हासिल हुई थीं। भाजपा को 3 सीटें मिली थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *