शिवराज कैबिनेट का दूसरा विस्तार: 3 नए मंत्रियों ने ली शपथ, जातिगत समीकरण साधने की कोशिश

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का शनिवार को कैबिनेट का विस्तार हुआ। यह उनके मौजूदा कार्यकाल का दूसरा विस्तार है। इस बार जातिगत समीकरण साधते हुए तीन राज्यमंत्री बनाए गए हैं। काछी समाज को प्रतिनिधित्व देने के लिए ग्वालियर (दक्षिण) से विधायक नारायण सिंह कुशवाह, लोधी समाज को ध्यान में रखते हुए नरसिंहपुर विधायक जालम सिंह पटेल और पाटीदार वर्ग से खरगोन विधायक बालकृष्ण पाटीदार शामिल हुए। बता दें कि इस साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव भी हैं।

कई बार टला कैबिनेट विस्तार

– कई बार टलने के बाद शनिवार को शिवराज कैबिनेट का विस्तार हुआ। इसका काफी वक्त से इंतजार किया जा रहा था।
– तीन नाम तो लगभग तय हो गए थे, लेकिन एससी या एसटी के अलावा इंदौर के प्रतिनिधित्व को लेकर देर शाम तक सीएम हाउस में मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान समेत संगठन के नेता विचार-विमर्श करते रहे।
– आखिरकार यह तय किया गया कि फिलहाल तीन नाम ही लिए जाएं। इससे पहले शुक्रवार दोपहर 12 बजे के करीब राजभवन से सामान्य प्रशासन विभाग को सूचना दी गई।
– चूंकि राज्यपाल आनंदीबेन को शनिवार को जल्द ही गुजरात निकलना है। इसलिए शपथ ग्रहण का कार्यक्रम राजभवन के दरबार हॉल में ही रखा गया है।

काम का बंटवारा जल्द

– कैबिनेट विस्तार के बाद मुख्यमंत्री एक-दो दिन में कामकाज का बंटवारा करेंगे।
– बीजेपी के प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे भी शनिवार को शपथ ग्रहण कार्यक्रम में मौजूद रहे।

जालम पर हत्या की कोशिश का केस

– पूर्व केंद्रीय मंत्री और दमोह से मौजूदा सांसद प्रहलाद पटेल के भाई जालम सिंह पटेल पर हत्या की कोशिश का केस चल रहा है।

– आरोप है कि 2014 में जालम सिंह उनके भतीजे मोनू पटेल समेत अन्य लोगों ने मिलकर मुकेश चौकसे नाम के शख्स पर जानलेवा हमला किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *