भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस सरकार के मंत्री सत्ता के नशे में चूर हो गए हैं। जीतू पटवारी और पीसी शर्मा मंत्री बनने लायक नहीं हैं। शिवराज बुधवार सुबह राजगढ़ जाने से पहले भोपाल में अपने निवास पर माडिया से चर्चा कर रहे थे। शिवराज के इस बयान पर मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि मुझे क्या रहना है, ये उन्हें तय नहीं करना है। मुझे कहां और क्या करना है, ये मुख्यमंत्री कमलनाथ तय करेंगे।

शिवराज ने कहा कि कांग्रेस के मंत्रियों को गाड़ी, बंगले अधिकार मिले हैं तो क्या ये किसी को डांटने और अपमानित करने के लिए हैं। ये सब जनता और प्रदेश के विकास के लिए मिले हैं। लेकिन सारे सुख मिलने के बाद कांग्रेस के मंत्री सत्ता के नशे में इतने चूर हो गए हैं कि कुछ दिखाई नहीं देता। कांग्रेस का साधारण कार्यकर्ता जिला योजना समिति की बैठक में शामिल होता है। भाजपा के सांसदों और विधायकों को बैठने तक की जगह नहीं दी जा रही। विपक्ष के विधायक, सांसद से कहा जाता है कि उनके कार्यकर्ताओं के बाद बैठ जाओ। बैठक में भाजपा सांसद और विधायक सवाल उठाते हैं तो डांट दिया जाता है। आखिर बैठक नियम प्रक्रियाओं के अंतर्गत चलेगी या नहीं चलेगी। 

राजगढ़ की घटना पर दिग्विजय सिंह के बयान पर शिवराज ने कहा- गलत बातों को प्रोत्साहित करना उनकी फितरत में शामिल है। वे हमेशा आतंकवादियों का समर्थन करते हैं। बाटला हाउस केस इसका उदाहरण हैं। कहीं एनकाउंटर हो जाए तो वे पुलिस कर्मियों पर सवाल खड़े करते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगते हैं। आतंकवादियों को महिमा मंडित करना दिग्विजय सिंह की फितरत में शामिल है। 

शिवराज ने कहा कि ब्यावरा में कलेक्टर और एसडीएम ने भाजपा कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मारे। पूरे ब्यावरा को कैद खाना बना दिया। ऐसी घिनोनी हरकत बिना ऊपर के इशारे के बिना नहीं हो सकती। मैडम सोनिया गांधी के इशारे पर कांग्रेस शासित राज्यों में यह हो रहा है। कलेक्टर और एसडीएम ने दंडनीय अपराध किया है। हम इस मामले में मामला दर्ज कराएंगे। 

जीतू पटवारी ने कहा

शिवराज के बयान के बाद खेल मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि मुझे क्या करना है और किस ऊंचाई तक पहुंचना है ये मुख्यमंत्री कमलनाथ तय करेंगे। लेकिन मैं इतना कह सकता हूं कि हमारी सरकार व्यापम जैसा कोई काम नहीं करेंगे। किसानों पर भी हमारी सरकार कभी गोली नहीं चलवाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *