शुक्रवार के दो घंटे तय करेंगे धार की फिजा

धार/ भोपाल [नप्र]। धार इन दिनों राष्ट्रीय स्तर पर सुíखयों में है। प्रदेश की राजनीति को हिला देने वाले इस शहर की फिजा अगले दो दिनों में क्या होगी, यह सवाल भोपाल से लेकर दिल्ली तक के गलियारों में सबसे ज्यादा दागा जा रहा है। शहर की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात किए गए हैं।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने ताजा आदेश जारी कर शुक्रवार को भोजशाला में बसंत पंचमी की पूजा और मुस्लिम धर्मावलंबियों की नमाज अदा करवाने के आदेश जारी कर दिए हैं। धार को छावनी में तब्दील करने के बाद भी अफसर शुक्रवार के उन दो घंटों को लेकर नि¨श्चत नहीं हैं। यही दो घंटे धार की फिजा भी तय करेंगे। बड़ी चुनौती यही है कि दोपहर एक से तीन के बीच शुक्र की नमाज और हवन की आहुतियां एक साथ एक ही परिसर के भीतर कैसे करवाई जाएं। आला प्रशासनिक अधिकारी पूरी ताकत झोंककर इस बात के प्रयास में जुटे हैं कि ऐसा कोई रास्ता निकल आए जिससे दोनों पक्षों के आयोजन संपन्न हो जाएं।

चप्पे-चप्पे पर पुलिस

बुधवार से ही शहर हाई अलर्ट पर नजर आने लगा है। जितनी हलचल भोजशाला के बाहर थी, उससे कहीं ज्यादा भीतर। शाम होते-होते यह हलचल और बढ़ गई क्योंकि सुरक्षा तैयारियों की रिहर्सल थी और जायजा लेने संभागायुक्त प्रभात पाराशर और आईजी अनुराधा शंकर पहुंचे। दोनों ने अफसरों की फौज के साथ आधा घंटे से भी ज्यादा समय तक व्यवस्था को देखा। चप्पे-चप्पे पर पुलिस है।

दूसरी बार ऐसी चुनौती

वर्ष 2003 में पूजा की अनुमति मिलने के बाद दूसरी बार प्रशासन के सामने दोनो आयोजन एक ही दिन में आयोजित करवाने की चुनौती आई है। इसके पहले वर्ष 2006 में भी इसी तरह की स्थिति से प्रशासन को जूझना पड़ा था।

योजनाएं लीक हुई तो बदली रणनीति

जिला और पुलिस प्रशासन को काफी पहले से इस स्थिति का आभास था। पूजा और नमाज एक साथ करवाने को लेकर एक दो नहीं आधा दर्जन विकल्प अफसरों ने तैयार कर लिए थे, लेकिन अंदरखानों की खबरें बाहर आती गई और प्रशासन को अपनी रणनीति बदलना पड़ी।

प्रेमपूर्वक व्यवहार हो: आईजी

आईजी अनुराधा शंकर फोर्स के बीच पहुंचीं और पूछा कि कोई दिक्कत, कोई घबराहट तो नहीं। सब ठीक है ना। फिर कहा कि जो लोग यहां आएं उनसे प्रेमपूर्वक व्यवहार करना है। अपना किसी से कोई झगड़ा नहीं है।

धार में साढे़ छह हजार जवान तैनात

-8 कंपनियां केंद्रीय सुरक्षा बलों की

-4 आरएफ और 4 सीआरपीएफ की 4 कंपनियां मुस्तैद रहेंगी

-पुलिस महानिरीक्षक इंदौर को सुरक्षा की कमान सौंपी गई है

-2 डीआईजी, 10 एसपी व बड़ी संख्या में एडीशनल एसपी एवं डीएसपी स्तर के अधिकारी भी रहेंगे।

-भोपाल में मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी लगातार संपर्क में बने हुए हैं।

शांतिपूर्वक पूजा-नमाज का आग्रह

नंदन दुबे, पुलिस महानिदेशक, मप्र ने बताया कि प्रशासन ने देश के प्रख्यात पंडितों से वसंत पंचमी की पूजा संबंधी मुहूर्त भी दिखवा लिए हैं। इसके आधार पर दोनों पक्षों से शांतिपूर्वक पूजा-नमाज कराने का आग्रह किया जा रहा है।