शुरुआती 100 दिन में श्रम कानून में बदलाव, औद्योगिक विकास जैसे सुधारों पर फोकस

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए इंटरव्यू में कहासरकार अपना भूमि बैंक बनाएगी ताकि विदेशी निवेशकों को आसानी से जमीन मिल सकेउधर प्रधानमंत्री मोदी ने विभागों का बंटवारा किया; निर्मला सीतारमण देश की दूसरी महिला वित्त मंत्री बनीं, इंदिरा गांधी पहली थीं

नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 100 दिनों में श्रम कानून में बदलाव, निजीकरण और औद्योगिक विकास के लिए भूमि बैंक तैयार करने जैसे सुधारों पर फोकस किया जाएगा। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने गुरुवार को न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए इंटरव्यू में यह बात कही।

विदेशी निवेशकों के लिए अच्छा माहौल बनेगा: राजीव कुमार

  1. राजीव कुमार का कहना है कि सुधारों में तेजी आएगी, विदेशी निवेशकों के लिए अच्छा माहौल बनेगा। कुमार ने कहा कि देश के जटिल श्रम कानून पर जल्द से जल्द फोकस किया जाएगा। जुलाई में संसदीय सत्र के दौरान सरकार नया बिल पेश करेगी। इसका मकसद 44 केंद्रीय कानूनों को 4 कोड में समेटना है। इससे कंपनियों को कर्मचारियों से विवादों का निपटारा करने में आसानी होगी।
  2. राजीव कुमार के मुताबिक सरकारी कंपनियों की बेकार पड़ी जमीनों से भूमि बैंक तैयार करने की योजना है। इसमें से विदेशी निवेशकों को जमीन दी जा सकती है। इससे विदेशी कंपनियों को मालिकाना हक और डेवलपमेंट के मामलों में कानूनी चुनौतियों जैसे जोखिम नहीं रहेंगे। विदेशी कंपनियों ने पिछले सालों में जिन जमीनों का इस्तेमाल किया उनमें से ज्यादातर कृषि भूमि थीं। ऐसे में जमीन के अधिकार, पर्यावरण और अन्य मुद्दों पर स्थानीय लोगों का विरोध झेलना पड़ा।
  3. कुमार के मुताबिक सरकार अगले कुछ महीनों में 42 से ज्यादा नियंत्रित कंपनियों के निजीकरण या उन्हें बंद करने पर फोकस करेगी। एयर इंडिया की बिक्री आसान बनाने के लिए इसमें विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है।
  4. निर्मला सीतारमण वित्त मंत्री बनींप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया। निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्रालय सौंपा गया है। वो देश की दूसरी महिला वित्त मंत्री हैं। पहली इंदिरा गांधी थीं।