श्रीलंका से मैच आज, सीरीज में ऐसा है इन 7 प्लेयर्स का परफॉर्मेंस

मीरपुर. एशिया कप का 7th मैच आज भारत-श्रीलंका के बीच शाम 7 बजे से यहां खेला जाएगा। शुरुआती दोनों टी-20 जीतकर टॉप पर बरकरार टीम इंडिया अगर यह मैच भी जीत जाती है तो फाइनल में उसकी जगह पक्की हो जाएगी। वहीं, श्रीलंका को फाइनल में पहुंचने के लिए दोनों मैच हर हाल में जीतने होंगे।
टी20 में एक-दूसरे के खिलाफ दोनों टीमों में से किसने जीते हैं ज्यादा मैच…
 – दोनों टीमों के बीच अब तक 9 टी20 मैच हुए हैं। इसमें टीम इंडिया को 5 और श्रीलंका को 4 मैच में जीत मिली है।
– इस साल दोनों टीमें 3 बार आमने-सामने हो चुकी है। इसमें 2 मैच में भारत को और 1 मैच में श्रीलंका को जीत मिली।
टीम इंडिया के लिए फिटनेस बड़ी परेशानी बनी
 – कप्तान एमएस धोनी की पीठ में अब भी जकड़न है। उन्होंने दूसरे मैच की तरह इस बार भी प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा नहीं लिया।
– रोहित शर्मा के पैर में लगी चोट से भी भारत की मुश्किलें बढ़ी हैं। उन्होंने भी प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा नहीं लिया, लेकिन उनके खेलने पर फैसला टॉस से पहले लिया जाएगा।
– दूसरे मैच में चोट की वजह से प्लेइंग इलेवन से बाहर रहे शिखर धवन इस मैच के लिए पूरी तरह फिट हैं। उन्होंने नेट्स पर काफी देर तक बैटिंग प्रैक्टिस की।
क्या है टीम इंडिया की ताकत?
 – ओपनर रोहित शर्मा की चोट चिंता की बात जरूर है, लेकिन अगर वे मैच खेलते हैं तो टीम इंडिया काफी मजबूत हो जाएगी।
– पाकिस्तान के खिलाफ वे जरूर जीरो पर आउट हो गए थे, लेकिन बांग्लादेश के खिलाफ पहले मैच में 83 रन बनाए थे।
– शिखर धवन, पिछले मैच में मैन ऑफ द मैच रहे विराट कोहली और पाक के खिलाफ तीन विकेट लेने वाले यंग प्लेयर हार्दिक पांड्या भी टीम इंडिया को काफी मजबूती दे रहे हैं।
– पांड्या अच्छी बैटिंग करने की ताकत रखते हैं। उनकी फील्डिंग भी जबरदस्त है।
– आशीष नेहरा और युवा प्लेयर जसप्रीत बुमराह लाइन-लेंथ से बॉलिंग कर रहे हैं। बुमराह ने तो पाक के खिलाफ सिर्फ 8 रन ही खर्च किए और 1 विकेट लिया।
– युवराज सिंह तेज तो नहीं खेल पा रहे, लेकिन लंबी पार्टनरशिप बनाने के लिए क्रीज पर टिक रहे हैं। यह अच्छी बात है। दूसरी छोर से रन बन रहे हैं।
– सुरेश रैना के बैट से रन नहीं निकल रहे, लेकिन वे टी20 फॉर्मेट के जबरदस्त बैट्समैन हैं। मिडिल ऑर्डर की जिम्मेदारी उनपर भी डिपेंड है।
क्या है श्रीलंका की ताकत?
 – श्रीलंका भले ही पिछला मैच हारकर दबाव में हो लेकिन टीम काफी मजबूत है। उसे हल्के में नहीं लिया जा सकता।
– एंजेलो मैथ्यूज, तिलकरत्ने दिलशान, दिनेश चांडीमल तेज बैटिंग के लिए जाने जाते हैं। इन्हें रन बनाने का मौका नहीं दिया जाना चाहिए।
– बॉलिंग की बात करें तो नुवान कुलशेखरा, थिसारा परेरा, दष्मंत चमीरा से इंडियन बैट्समैन को संभलकर खेलना होगा।
– हमारे बैट्समैन इनकी बॉल्स पर आसानी से रन बना सकते हैं, लेकिन समझदारी से बैटिंग करनी होगी।
– स्टार फास्ट बॉलर लसिथ मलिंगा की घुटने की चोट टीम इंडिया के लिए बहुत बड़ी राहत की बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *