संघ की नसीहत, बार-बार नाराजगी जताने से बचें आडवाणी

Tatpar 22 Aug 2013

नई दिल्ली। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को भाजपा चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद से नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने नसीहत दी है।

संघ ने आडवाणी से कहा है कि वह बार-बार नाराजगी जताने से बचें। इससे समाधान संभव नहीं हो पाता है, बल्कि ज्यादा उलझ जाता है।

पार्टी सूत्रों की मानें तो संघ ने भाजपा नेताओं को भी यह नसीहत दी कि वे आडवाणी के बयान पर नकारात्मक टिप्पणी करने से बचें।

उल्लेखनीय है कि बीते कुछ महीनों से आडवाणी पार्टी की गतिविधियों से नाराज चल रहे हैं और उन्होंने मोदी को प्रमुखता दिए जाने का विरोध करते हुए पाटी के सभी प्रमुख पदों से इस्तीफा दे दिया था, हालांकि मान-मनौव्वल के दौर के बाद उन्होंने अपना इस्तीफा वापस ले लिया था।

संघ की नसीहत तब आई है जब आडवाणी ने लालकिले पर झंडा फहराए जाने के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा दिए गए भाषण की मोदी ने जमकर आलोचना की थी। जिस पर आडवाणी ने परोक्ष रूप से अपनी नाराजगी जताई थी। उनका कहना था कि स्वतंत्रता दिवस एकजुटता दिखाने का दिन है। इस दिन किसी भी तरह की आलोचना नहीं होनी चाहिए।