सभी कश्मीरी आतंकी नहीं: राजनाथ; कश्मीरियत के बयान पर राइटर ने उठाए थे सवाल

नई दिल्ली.राजनाथ सिंह ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि हमले से पूरा देश सदमे में हैं। घटना बेहद दुखद है, लेकिन मैं कश्मीर के बहनों-भाइयों का अभिनंदन करना चाहता हूं, उन्हें बार-बार सैल्यूट करना चाहता हूं कि वहां के हर वर्ग ने इसकी निंदा की। उन्होंने कश्मीरियत को जिंदा रखा।” होम मिनिस्टर के इस बयान पर सोशल मीडिया यूजर्स ने कई तरह के रिएक्शन दिए। इस बीच, एक टूर एंड ट्रैवल कंपनी की राइटर ने कुछ ऐसा कमेंट किया, जिस पर खुद राजनाथ को जवाब देना पड़ा। हालांकि जब होम मिनिस्टर ने अपनी बात रखी तो राइटर ने ट्वीट डिलीट कर दिया। बता दें कि आतंकियों ने सोमवार रात श्रद्धालुओं से भरी बस पर हमला किया था। इसमें 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 20 लोग जख्मी हुए।
राइटर ने क्यों किया ट्वीट…
– कश्मीर और कश्मीरियत पर दिए राजनाथ के बयान को लेकर राइटर शुचि कालरा ने मंगलवार को ट्विटर पर सवाल उठाए। उन्होंने इसमें कुछ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल भी किया। शुचि ने लिखा- ”किसी को परवाह नहीं कि जम्मू-कश्मीर में कश्मीरियत जिंदा है या नहीं। हम सिर्फ इतना चाहते हैं कि हमला करने वाले आतंकियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए।”
– राजनाथ ने भी फौरन शुचि को रिट्वीट करते हुए लिखा- ”मिस कालरा, देशभर में अमन कायम करना निश्चित तौर पर मेरा काम है और मैं इसे कर रहा हूं। सभी कश्मीरी आतंकवादी नहीं होते हैं।”
– इसके बाद कालरा ने होम मिनिस्टर के ट्वीट का रिप्लाई तो किया, लेकिन पहले पुराना ट्वीट डिलीट कर दिया। कालरा ने जवाब में लिखा, ”सभी कश्मीरी आतंकी नहीं हैं सर। लेकिन जो हैं उन पर रहम नहीं किया जाए।”
कश्मीर के बहनों-भाइयों को सैल्यूट करता हूं: राजनाथ
– इसके पहले होम मिनिस्टर ने कहा, ”अमरनाथ यात्रियों पर हमले से पूरा देश सदमे में हैं। घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है, लेकिन मैं कश्मीर के बहनों-भाइयों का अभिनंदन करना चाहता हूं, उन्हें बार-बार सैल्यूट करना चाहता हूं कि वहां के हर वर्ग ने इसकी निंदा की। उन्होंने कश्मीरियत को जिंदा रखा। किसी ने इसकी सराहना नहीं की। ये सिर्फ आतंकियों का कायराना हमला था, मुझे पता चला कि सभी लोगों ने इसकी कड़ी निंदा की है तो इससे मेरा हौंसला अफजाई हुआ है। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है।”
कश्मीरियों के सिर शर्म से झुक गए: महबूबा
– सीएम महबूबा ने अस्पताल में घायलों से मुलाकात के दौरान हाथ जोड़कर हमले पर अफसोस जताया। कहा- ”आप लोग गुजरात से आए हैं हमारे यहां यात्रा करने के लिए और हम लोगों ने क्या किया आपके साथ?”
– उन्होंने बाद में मीडिया से कहा, ”सभी कश्मीरियों के सिर शर्म से झुक गए। ये लोग इतने मुश्किलात के बावजूद इतनी दूर से यहां यात्रा करने आते हैं। मेरे पास अल्फाज नहीं हैं इस हमले की निंदा करने के लिए।”
मोदी ने कहा- भारत नहीं झुकेगा
हमले के बाद सोमवार रात नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”जम्मू कश्मीर में शांतिप्रिय अमरनाथ यात्रियों पर कायराना हमले से दुख हुआ। हर किसी को इस हमले की कड़ी से कड़ी निंदा करनी चाहिए। मेरी संवेदनाएं हमले में मारे गए लोगों के परिजनों से हैं। मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं। भारत इस तरह के कायराना हमलों के आगे कभी नहीं झुकेगा।”
दोषियों को कड़ी सजा देंगे: केंद्र
– केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, ” अनंतनाग हमले के दोषियों को छोड़ने का सवाल ही नहीं। जानकारी के मुताबिक, अमरनाथ यात्रियों को ले जाने वाली बस ने इन्फॉर्म नहीं किया। उनके साथ सिक्युरिटी नहीं थी। ऐसा नहीं करना चाहिए। हमारा पड़ोसी आतंक को प्रोत्साहित कर रहा है। ऐसे में सावधानी रखें। मारे गए लोगों के परिवार वालों के साथ मेरी सहानुभूति है। यात्रा ठीक ढंग से चलती रहे इसका पूरा प्रयास करेंगे।”
– “ये हमला इंसानियत के खिलाफ है। हम इसकी निंदा करते हैं। जम्मू-कश्मीर सरकार इसकी जांच कर रही है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *