सर्वदलीय बैठक में बोले PM- सदन चलाने में सहयोग करे विपक्ष

18 जुलाई (बुधवार) से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र से पहले मंगलवार को सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई. इस बैठक में पीएम मोदी भी शामिल हुए. सर्वदलीय बैठक के अंत में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी पार्टियों से खासतौर पर विपक्ष से निवेदन किया कि इस सत्र को सुचारू रूप से चलाने में सहयोग करें और सदन को सार्थक बनाएं.

पीएम ने कहा कि जनता की भी यही उम्मीद है कि यहां पर जो मुद्दे सर्वदलीय बैठक में उठाए गए हैं वह सदन के भीतर भी उठने चाहिए और उन पर चर्चा होनी चाहिए. अगर सदन सुचारू रूप से चलेगा और यह मुद्दे उठाएं जाएंगे तो देश को फायदा होगा, जनता को फायदा होगा. उन्होंने कहा कि हम (केंद्र सरकार) भी हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार हैं.

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने बैठक के बारे में बताया कि हम हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार हैं चाहे कोई भी राष्ट्रीय मुद्दा हो, हम चर्चा करने के लिए तैयार हैं. अविश्वास प्रस्ताव लाने के विपक्ष की बात पर अनंत कुमार ने कहा कि कोई भी प्रस्ताव जो विपक्ष की तरफ से आता है मोदी सरकार उसका जवाब देने के लिए तैयार है. उन्होंने यह भी बताया कि विपक्ष सहित सभी पार्टियों ने सदन को चलाने और पूरा सहयोग देने की बात की है.

AAP ने पीएम के सामने उठाया एलजी का मुद्दा

सर्वदलीय बैठक के दौरान प्रधानमंत्री के सामने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने दिल्ली सरकार का मुद्दा उठाते हुए कहा कि केंद्र सरकार दिल्ली में सरकार को अपना काम नहीं करने दे रही है, उनको काम करने देना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी रुकावट डाली जा रही है और आप सरकार के ऊपर एलजी का डंडा चलाया जा रहा है. दिल्ली सरकार को लोकतंत्र से चलने देना चाहिए ना कि एलजी के डंडे से.

बता दें, विपक्ष इस बार सदन में किसानों की आत्महत्या, भ्रष्टाचार, मॉब लिंचिंग और महंगाई जैसे मुद्दे उठाने की तैयारी में है. आरजेडी के नेता जयप्रकाश यादव का कहना है कि हम चाहते हैं सदन चले, लेकिन जो जरूरी मुद्दे हैं उनको विपक्ष सदन में उठाएगा. चाहे मॉब लिंचिंग का मुद्दा हो या भ्रष्टाचार का मुद्दा, सरकार से सवाल तो पूछे जाएंगे.