सिंध में हिंदुओं की दुकानों में आगजनी, हिंदू डॉक्टर पर ईशनिंदा के आरोपों के बाद हिंसा भड़की

पाकिस्तान के दक्षिण सिंध प्रांत में स्थित मीरपुरखास में एक हिंदू डॉक्टर को ईशनिंदा के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। डॉक्टर का नाम रमेश कुमार बताया गया है। उन पर पास की ही मस्जिद के एक इमाम ने केस दर्ज कराया। आरोप है कि रमेश ने कुरान के पन्ने फाड़कर उसमें दवा लपेटकर मरीजों को दी। मामले के सामने आने के बाद इलाके में प्रदर्शनकारियों ने हिंदुओं की दुकानों पर हमले किए और उनमें आग लगा दी। 

स्थानीय पुलिस स्टेशन में तैनात एसएचओ जाहिद हुसैन लेघरी के मुताबिक, डॉक्टर को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है। लेघरी का कहना है कि इलाके में सांप्रदायिक तनाव भड़कने के बाद डॉक्टर को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। 

ईशनिंदा में फंसाए जाने की शिकायत करते रहे हैं हिंदू
पाक के सिंध प्रांत में बड़ी संख्या में हिंदू रहते हैं। हालांकि, पाक हिंदू काउंसिल कई बार मुस्लिम बहुसंख्यकों द्वारा ईशनिंदा के मामलों में निशाना बनाए जाने की शिकायत कर चुका है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1987 से 2016 तक पाक के ईशनिंदा कानून के तहत 1472 लोगों पर कार्रवाई हुई।