‘सिमी ने श्रद्धालुओं की ट्रेन पर हमले की साजिश रची थी’

Tatpar 28/11/2013

रायपु/  स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट इंडिया (सिमी) के संदिग्ध आतंकी उमेर सिद्दीकी के बारे में बुधवार को रायपुर पुलिस ने अहम खुलासे किए हैं।

पुलिस ने बताया कि हाल ही में यहां गिरफ्तार हुए सिद्दीकी ने दिल्ली बोध गया विशेष ट्रेन सहित लखनऊ में शिया मस्जिद पर हमले की साजिश रची थी।

पुलिस के अनुसार सिद्दीकी ने पटना विस्फोट के आरोपी हैदर अली उर्फ अब्दुल्ला के साथ मुस्लिम युवाओं को बम बनाने का प्रशिक्षण दिया था।

इसके अलावा राजनीतिक नेताओं पर आत्मघाती हमलेकरने के लिए भी युवाओं को तैयार किया था। पूछताछ के दौरान सिद्दीकी ने स्वीकार किया कि उसने श्रद्धालुओं की दिल्ली बोध गया वीआईपी ट्रेन में विस्फोट की साजिश रची थी।

पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (खुफिया) मुकेश गुप्ता ने कहा कि सिद्दीकी ने ट्रेन पर हमला कर जापान तथा श्रीलंका के नागरिकों की जान लेना चाहता था।

गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने सिमी के पूर्व प्रमुख सफदर नागोरी के हाथों लिखा पत्र भी सिद्दीकी के पास से बरामद किया है। वर्तमान में नागोरी साबरमती जेल में बंद है।

पुलिस ने बताया कि सिद्दीकी और उसके सहयोगियों ने राज्य की राजधानी रायपुर से 90 किलोमीटर दूर ऐतिहासिक बौद्ध धार्मिक स्थल सिरपुर की भी तलाश की।

सिद्दीकी गत सात जुलाई को बोध गया मंदिर भवन परिसर में विस्फोट का मुख्य आरोपी माना जा रहा है। पिछले दो सप्ताह में सिमी के कथित 13 आतंकियों को यहां से गिरफ्तार किया गया है। इनमें सिद्दीकी भी शामिल है।