सीवान से तिहाड़ जेल शिफ्ट किया जाए शहाबुद्दीन: SC का बिहार सरकार को ऑर्डर

पटना. सुप्रीम कोर्ट ने राजद नेता और पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन को बिहार की सीवान जेल से तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का ऑर्डर दिया है। तेजाब कांड में उस पर गवाहों को प्रभावित करने का अारोप लगाया गया था। पिटीशन में कहा गया था कि शाहाबुद्दीन के बिहार में रहते न्याय नहीं मिल सकता। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी ट्रायल केस की सुनवाई…
Advertisement

– सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को तेजाब कांड की सुनवाई के दौरान चंदा बाबू की पिटीशन पर यह फैसला दिया।
– चंदा बाबू के दो बेटों की तेजाब डालकर हत्या कर दी गई थी। उनके तीसरे बेटे की भी बाद में हत्या कर दी गई थी।
– शहाबुद्दीन पर उनकी हत्या करवाने का आरोप है।
– कोर्ट ने बिहार सरकार को ऑर्डर दिया है कि शहाबुद्दीन को एक हफ्ते में तिहाड़ जेल शिफ्ट किया जाए।
– कोर्ट ने कहा है कि शहाबुद्दीन पर दर्ज सभी केस की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कराई जाएंगी।
– कोर्ट के इस फैसले के बाद चंदा बाबू ने भरोसा जताया है कि अब उन्हें लग रहा है कि न्याय मिल जाएगा।
जेल मैनुअल तोड़ रहा था शहाबुद्दीन: प्रशांत भूषण
– चंदा बाबू के वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि बिहार की जेल शहाबुद्दीन को काबू नहीं कर पा रही थीं। इस बात के कई सबूत थे।
– सुप्रीम कोर्ट ने इस आधार पर शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का फैसला सुनाया।
– प्रशांत भूषण ने बताया कि शाहाबुद्दीन जेल मैनुअल तोड़ रहा था।
– वह जब चाहता लोग जेल में उसके पास आ जाते। उनके पास फोन होता था।
– कोर्ट ले जाते वक्त भी उसे यहां-वहां ले जाया जाता था।
क्या है मामला?
– जमीन पर कब्जे की नीयत से 16 अगस्त 2004 को सीवान के गोशाला रोड में चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू और उनके परिवार पर हमला किया गया था।
– इस दौरान अपने बचाव में चंदा बाबू के बेटे सतीश राज ने तेजाब फेंका, जो कुछ लोगों के ऊपर पड़ा।
– 16 अगस्त को चंदा बाबू के दो बेटों सतीश और गिरीश को अगवा कर लिया गया। तीसरा बेटा राजीव मौके से भागने में कामयाब हो गया।
– चंदा बाबू के अगवा किए गए दोनों बेटों को उसी रात तेजाब से नहलाकर मार दिया गया।
शादी के 18वें दिन हुई तीसरे बेटे की भी हत्या
– चंदा बाबू का बड़ा बेटा राजीव कई सालों तक लापता रहा। बाद में 6 जून, 2011 को उसने बतौर चश्मदीद गवाही दी।
– राजीव का कहना था कि वह अपने दोनों भाइयों को तलाशते हुए शहाबुद्दीन के ठिकाने पर पहुंचा था।
– वहां उसने देखा कि शहाबुद्दीन की मौजूदगी में उसके दोनों भाइयों पर तेजाब डाला जा रहा है। यह देखकर वह वहां से जान बचाकर भाग गया।
– 16 जून, 2014 को उसकी भी सीवान में गोली मारकर हत्या कर दी गई। तब उसकी शादी हुए 18 दिन ही हुए थे।
– शहाबुद्दीन पर चंदा बाबू के तीनों बेटों की हत्या करवाने का आरोप है।
– राजीव की हत्या में शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा भी आरोपी है।
जर्नलिस्ट राजदेव रंजन हत्याकांड में भी है आरोपी
– 13 मई 2016 को सीवान में हुई जर्नलिस्ट राजदेव रंजन हत्याकांड में भी शहाबुद्दीन का नाम सामने आया था। सीबीआई इस केस की जांच कर रही है।
– राजदेव के परिजनों का आरोप है कि हत्या शहाबुद्दीन ने करवाई।
– पुलिस ने 5 शूटरों को अरेस्ट किया था। पुलिस को पता चला था कि लड्डन मियां के कहने पर राजदेव को गोली मारी गई थी।
– लड्डन शहाबुद्दीन का करीबी बताया जाता है। उसने सरेंडर कर दिया था।