नई दिल्ली. देश की आबादी के एक बड़े हिस्से को संसद और सुप्रीम कोर्ट से ज्यादा भरोसा प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) पर है। इसके अलावा उन्हें यह भी लगता है कि सत्ताधारी पार्टी भाजपा जनता से जुड़े मुद्दों को सुलझाने में विपक्षी पार्टियों की तुलना में ज्यादा कारगर रही है। यह खुलासा पेरिस स्थित ग्लोबल मार्केट रिसर्च फर्म इप्सोस के सर्वे में हुआ है। फर्स्टपोस्ट के साथ किए गए इस सर्वे को देश की जनता या वोटर्स की राजनीतिक स्थिति और उसके पीछे की वजहों को जानने के उद्देश्य से किया गया।


द नेशनल ट्रस्ट सर्वे के नाम से जारी रिपोर्ट के मुताबिक सर्वे में जनता से जुड़े सुलझाने में भाजपा को कांग्रेस की तुलना में बेहतर बताया है। सर्वे के मुताबिक, ज्यादातर लोगों ने यह माना कि भाजपा महंगाई, पेट्रोल की कीमतें, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और बेरोजगारी से जुड़े मुद्दों से निपटने में कांग्रेस की तुलना में बेहतर रही है। हालांकि, इनमें एक बड़ा हिस्सा हिंदी भाषी राज्यों से जुड़े लोगों का है।


राहुल से ज्यादा भरोसा मोदी पर, लेकिन दक्षिण में राहुल भारी

सर्वे के मुताबिक, लोगों ने देश का नेतृत्व करने वाले नेता के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहली पसंद बताया, लेकिन ऐसा सिर्फ हिंदी भाषी राज्यों में है। दूसरी तरफ आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल के लोगों ने प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी की तुलना में राहुल गांधी को पहली पसंद बताया। 


इप्सोस ने देश के 23 राज्यों की करीब 320 लोकसभा सीटों पर यह सर्वे किया है। नेशनल ट्रस्ट सर्वे में इन इलाकों के करीब 35,000 लोगों से देश की राजनीति को लेकर उनकी राय पूछी गई। इसमें ग्रामीण एवं शहरी, दोनों इलाकों के लोग शामिल हैं।

10 में से 7 लोगों को विपक्ष और संसद से ज्यादा भरोसा सुप्रीम कोर्ट पर

सर्वे के मुताबिक देश में लोगों को सबसे ज्यादा भरोसा पीएमओ पर है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट और संसद है। इनके अलावा चौथे नंबर पर विपक्षी पार्टी यानी कांग्रेस का नंबर है, जिन पर 53% से ज्यादा लोगों ने भरोसा जताया है।

संसदभरोसा
पीएमओ74.4%
सुप्रीम कोर्ट72.6%
संसद 71.7%
विपक्षी दल 53.3%  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *