सेना का सख्त संदेश, ‘कितने गाजी आए और चले गए

कितने गाजी आए और कितने चले गए
सेना का कहना है कि पुलवामा हमले के पीछे ISI का हाथ हो सकता है. सेना ने यह भी कहा कि कश्मीर में कितने गाजी आए और चले गए.
चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जेएस ढिल्लन ने कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एसपी पाणि और सीआरपीएफ के महानिरीक्षक जुल्फिकार हसन के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही.

ढिल्लन ने कहा कि उन्होंने सभी कश्मीरी आतंकवादियों की माताओं से कहा है कि वे अपने बेटों को आत्मसमर्पण करने के लिए तैयार करें. अधिकारी ने कहा, ‘‘बंदूक उठाने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा.’’
ढिल्लन के अनुसार सुरक्षाबल 14 फरवरी को हुए हमले के बाद से ही जैश के शीर्ष आकाओं का पता लगा रहे हैं.
उन्होंने कहा, ‘‘ हमने पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले शीर्ष कमांडर को ढेर कर दिया है.’’
पुलवामा जिले के पिंगलान क्षेत्र में सोमवार को 16 घंटे तक चली मुठभेड़ में जैश के तीन आतंकवादी ढेर कर दिए गए. वहीं, सेना का एक मेजर और पांच अन्य लोग भी मुठभेड़ में मारे गए.
मुठभेड़ 14 फरवरी को हुए हमले की जगह से करीब 12 किलोमीटर दूर हुई थी. 

‘पाकिस्तानी सेना का सौ फीसदी इन्वॉल्वमेंट’
ले. ज. केजेएस ढिल्लन जीओसी चिनार कॉर्प्स ने कहा, ‘जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान आर्मी का ही बच्चा है. इस हमले में पाकिस्तानी सेना का 100 फीसदी इनवॉल्वमेंट हैं. इसमें हमें और आपको कोई शक नहीं है.
ढिल्लन ने कहा कि ‘मुठभेड़ में जैश के 3 कमांडर ढेर हुए हैं. इस हमले में और कौन शामिल थे और क्या प्लान थे, यह हम शेयर नहीं कर सकते.’
कश्मीर में युवाओं के आतंकियों के नियुक्ति पिछले कुछ महीनों में कम हुई है. घाटी में जो भी घुसपैठ करेगा, वह जिंदा नहीं बचेगाः एसपी पाणि, आईजी, कश्मीर
सेना ने कहा कि पुलवामा हमला को आईएसआई ने आतंकी संगठन जैश के जरिए कराया.आतंकी कामरान ही पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड था. उसे लगातार ISI से निर्देश मिल रहे थे.
बेगुनाह को सेना मारना नहीं चाहती है
सेना का कहना है कि पुलवामा हमले में आईएसआई का हाथ हो सकता है. सेना ने कहा कि वह नहीं चाहती है कि बेगुनाह मरे. सेना ने कहा कि आतंकी कामरान मारा गया है. जैश को आईएसआई कंट्रोल कर रही है.
ले. ज. केजेएस ढिल्लन जीओसी चिनार कॉर्प्स ने कहा, ‘कल के ऑपरेशन में फ्रंट पर लीड करनेवाले हमारे जवान छुट्टी पर थे, लेकिन वह देश सेवा के लिए ड्यूटी पर तैनात हुए. मैं स्थानीय नागरिकों से अपील करता हूं कि वह ऑपरेशन के दौरान हमारा सहयोग करें.’
जुल्फिकार हसन, आईजी सीआरपीएफ ने कहा, ‘शहीद हुए जवानों के परिवार से कहना चाहूंगा कि आप अपने को अकेले न समझें.
आपके लिए हर वक्त हम खड़े हैं. देश के विभिन्न हिस्सों में पढ़ने वाले कश्मीरी बच्चों के लिए भी हम हेल्पलाइन चला रहे हैं, ताकि उन्हें अप्रिय स्थिति का सामना न करना पड़े.’
सरेंडर करनेवालों के लिए कई तरह के अच्छे कार्यक्रम चला रहे हैं, लेकिन आतंकी वारदातों में शामिल रहनेवालों के लिए कोई रहमदिली नहीं दिखाई जाएगी: सेना
‘माताओं से अपील है कि अपने बच्चों को सरेंडर करने के लिए कहें’
सेना ने अपील करते हुए कहा कि, जम्मू-कश्मीर की माताओं से अपील करता हूं कि अपने बच्चों को समझाएं और गलत रास्ते पर चले गए लड़कों को सरेंडर करने के लिए बोलें’.
जैश को आईएसआई कंट्रोल कर रही है.  पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान ही था. सेना ने कहा कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ. सेना ने कहा कि कश्मीर में कितने गाजी आए और चले गए.  प्रेसवार्ता में सेना ने दो टूक लहजे में कहा कि कश्मीर में जो घुसपैठ करेगा जिंदा नहीं बचेगा.