स्टिंग ऑडियो के आरोप के चलते अंजलि दमनिया ने पार्टी छोड़ी।

आम आदमी पार्टी के भीतर मतभेद तेज हो गए हैं। पार्टी नेता योगेन्‍द्र यादव और प्रशान्‍त भूषण ने हाल में उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों के बारे में पार्टी के स्‍वयंसेवकों को पत्र लिखा है। मीडिया से बातचीत में श्री यादव ने बताया कि हम लोगों ने स्‍वयंसेवकों को पूरी बात की जानकारी देने के लिए पत्र लिखा है। उन्‍होंने पार्टी से पत्र सार्वजनिक करने का भी अनुरोध किया है।

महाराष्‍ट्र से आम आदमी पार्टी की नेता अंजली दमनिया ने पार्टी छोड दी है। उन्‍होंने ट्विट कर कहा है कि वे पार्टी के सिद्धांतों के लिए इसमें शामिल हुई थी, ना कि विधायकों की खरीद-फरोख्‍त के लिए। अंजली दमनिया ने कहा कि उन्‍हें श्री अरविन्‍द केजरीवाल पर विश्‍वास था और उनकी विचाराधारा से प्रभावित होकर वे उनका समर्थन कर रही थी। समझा जाता है कि अंजली ने इन खबरों से परेशान होकर पार्टी छोडी है, जिनमें आरोप लगाया गया है कि श्री केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद फिर से मुख्‍यमंत्री पद की कुर्सी पाने के लिए कांग्रेस विधायकों को तोडकर बहुमत जुटाने का प्रयास किया था। आम आदमी पार्टी के तत्‍कालीन विधायक राजेश गर्ग और श्री केजरीवाल के बीच जुलाई 2014 में हुई बातचीत की रिकार्डिंग के आधार पर यह आरोप लगाया गया है।