स्वयं का कारोबार कर स्वावलंबी बने महिलाएं – मंत्री डॉ. मिश्रा

गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि स्वावलंबी महिलाएं परिवार को भी आर्थिक रूप से सशक्त बनाती है। समय की आवश्यकता है कि महिलाओं को आगे आकर स्व-रोजगार की दिशा में बढ़ना होगा। प्रदेश सरकार महिला सशक्तिकरण और उन्हें स्व-रोजगार से जोड़ने के लिये अनेक योजनाएँ संचालित कर रही है। महिलाएँ आगे आयें और स्व-रोजगार से जुड़कर स्वावलंबी बने, जिससे परिवार की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी।

मंत्री डॉ मिश्रा ने दतिया प्रवास के दौरान  सामुदायिक प्राशिक्षण केंद्र  खैरी में  महिलाओं के सिलाई प्रशिक्षण का शुभारंभ  किया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि केन्द्र में  सिलाई प्रशिक्षण शुरू हो जाने से क्षेत्र की अधिक से अधिक महिलाएं को लाभ मिलेगा।  राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की श्रीमती नित्या चतुर्वेदी ने बताया कि इस सामुदायिक प्रशिक्षण केन्द्र में 25 महिलाएं सिलाई प्रशिक्षण से जुड़ेंगी। जिले में अभी तक 55 स्व-सहायता समूहों की 650 महिलाएं प्रशिक्षण ले चुकी हैं। प्रशिक्षण उपरांत  महिलाओं को  बैंक से लोन लेकर स्वयं का रोजगार स्थापित करने में  सहायता प्रदान की जा रही है, जिससे वे अपनी आजीविका को बेहतर ढंग से चला सकें। इस अवसर पर विभागीय अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *