स्‍वामी के लगभग 70 लाख रूपये के वेतन बकाया

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा है कि उसने भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी के बकाये का भुगतान करने और क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट अकादमी के लिए भूमि आवंटित

करने के लिए दिल्‍ली के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान – आई आई टी को कोई निर्देश नहीं दिया है। मंत्रालय का यह स्‍पष्‍टीकरण मीडिया में आई इन खबरों के बाद आया है कि आई आई टी दिल्‍ली के निदेशक रघुनाथ शेवगांवकर ने इन दोनों मुददों पर सरकार के दबाव का विरोध करते हुए इस्‍तीफा दे दिया। खबरों में कहा गया है कि श्री स्‍वामी के लगभग 70 लाख रूपये के वेतन बकाया को जारी करने के लिए मंत्रालय आई आई टी निदेशक पर दबाव बना रहा था। श्री स्‍वामी वर्ष 1972 से 1991 के बीच आई आई टी में शिक्षक रहे हैं। मंत्रालय ने इस दावे को भी खारिज कर दिया कि आई आई टी को सचिन तेंदुलकर को जमीन उपलब्‍ध कराने के निर्देश दिए गये हैं। मंत्रालय ने कहा है कि ये खबरें तथ्‍यात्‍मक रूप से गलत हैं और इस मामले में मंत्रालय को अनावश्‍यक रूप से घसीटा गया है। उधर, श्री तेंदुलकर ने भी कहा है कि उनकी क्रिकेट अकादमी की कोई योजना नहीं है।