हनी ट्रैप: पाकिस्तानी साजिश का पर्दाफाश, खुफिया ‘नर्स’ के रडार पर थे 50 जवान, एक गिरफ्तार

भारतीय‌ सेना की नर्स बनकर जवानों को हनी ट्रैप में फंसाने वाले पाकिस्तानी साजिश का पर्दाफाश हुआ है. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ने भारतीय नर्स की फेक आईडी से लगभग 50 जवानों को अपने संपर्क में रखा था. सूत्रों के मुताबिक, ये सभी जवान मिलिट्री इंटेलीजेंस (एमआई) के रडार पर हैं. पाकिस्तानी एजेंसी के इस करतूत का खुलासा सोमबीर नाम के उस जवान की गिरफ्तारी के बाद हुआ है जो जैसलमेर स्थित आर्मर्ड-ब्रिगेड में अर्जुन मैन बैटेल टैंक पर तैनात था.

सूत्रों के मुताबिक, अनिका चोपड़ा नाम के जिस फेसबुक अकाउंट से सोमबीर पिछले कुछ समय से संपर्क में था उसी अकाउंट की फ्रेंड लिस्ट में कम-से-कम 50 और जवान शामिल हैं. जिसके बाद ये पता करने की कोशिश की जा रही है कि इन जवानों ने कभी अनिका चोपड़ा नाम के फर्जी एकाउंट को भारतीय सेना से जुड़ी संवेदनशील जानकारी तो लीक नहीं की है.

आपको बता दें कि अनिका चोपड़ा नाम की जो फर्जी फेसबुक आईडी है ये पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी का है. यह आईडी पाकिस्तान से ही ऑपरेट हो रहा है. पाकिस्तान की इस‌ एजेंट ने फेसबुक पर खुद को भारतीय सेना की एमएनएस यानि मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की नर्स बता रखा है. अपनी लोकेशन उसने गुजरात के जूनागढ़ की दे रखी है. सूत्रों की मानें तो यही वजह है कि सोमबीर उसके ट्रैप में फंस गया और उसे सेना से जुड़ी संवेदनशील जानकारियां, फोटो और वीडियो भेजने लगा.

सूत्रों की मानें तो सोमबीर ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को अबतक भारतीय सेना की राजस्थान में हुई गोपनीय एक्सरसाइज, पाकिस्तान सीमा पर तैनात आर्मर्ड ब्रिगेड और अर्जुन टैंक से जुड़ी जानकारियां लीक की है. 4 जनवरी को एमआई ने उसे राजस्थान पुलिस के हवाले कर दिया था. फिलहाल वो राजस्थान पुलिस की कस्टडी में है.

थलसेना प्रमुख जनरस बिपिन रावत ने 10 जनवरी को ही सालाना प्रेस काफ्रेंस में ऐलान किया था कि जो भी जवान जाने-अनजाने में हनी ट्रैप में फंस जाता है तो वो इसकी सूचना तुरंत अपने मुख्यालय को दे. अगर वो इसे छिपाने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई की जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *