हमने 7000 रिफॉर्म्स किए:210 ट्रिलियन की कंपनियों के CEOs से बोले मोदी

वॉशिंगटन/नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी ने रविवार को अमेरिका के टॉप 21 CEOs से मुलाकात की। इस राउंड टेबल मीटिंग में मोदी ने GST को गेम चेंजर बताते हुए कहा, “पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है, हमारी सरकार ने 7000 रिफॉर्म्स किए हैं। बिजनेस लीडर्स को इन्वेस्टमेंट का न्योता देने के साथ ही मोदी ने कहा, “हमारी ग्रोथ ने अमेरिका-इंडिया दोनों को ही पार्टनरशिप में फायदे का मौका दिया है। कंपनीज को इसमें कंट्रीब्यूशन करने का अच्छा मौका है।” बता दें कि जिन कंपनियों के CEOs से मोदी ने मुलाकात की उनमें से 19 कंपनियों की मार्केट वैल्यू 210 लाख करोड़ रुपए यानी 210 ट्रिलियन है।
बिजनेस स्कूलों में पढ़ाया जा सकता है GST…
– मोदी ने कहा, “GST लागू करना ऐतिहासिक पहल है। इसे अमेरिका के बिजनेस स्कूलों में पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जा सकता है।”
– पीएम ने भारत में इनोवेशन, इंटेलेक्चुअल्स के इस्तेमाल, एजुकेशन और पेशेवर ट्रेनिंग के सेक्टर में संभावनाओं पर जोर दिया। उन्होंने सुझाव दिया कि सफाई, उनके प्रोडक्टस और टेक्नोलॉजी को स्कूल जाने वाली लड़कियों की जरूरतों से जोड़ा जाए।
500 रेलवे स्टेशंस पर टूरिज्म बढ़ाने का मौका
– मोदी बोले कि भारत के 500 रेलवे स्टेशंस पर होटल डेवलप करने और इसके जरिए टूरिज्म को बढ़ाने का मौका है। इन होटल्स के PPP मॉडल्स पर डेवलपमेंट किया जाना है। इसके साथ ही मोदी ने NDA सरकार की पारदर्शिता, क्षमता, सबका साथ-सबका विकास जैसी चीजों के महत्व पर जोर डाला।
CEOs ने डिजिटल इंडिया और नोटबंदी की तारीफ की
– मीटिंग में मौजूद CEOs ने मोदी सरकार के नोटबंदी, डिजिटल इंडिया, जीएसटी, बिजनेस के लिए माहौल अच्छा बनाने, प्रॉसेस आसान करने जैसे सुधारों की तारीफ की। साथ ही सरकार के डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया और दूसरी फ्लैगशिप योजनाओं में सहयोग देने की बात कही।
क्या बोले बिजनेस लीडर्स
1) सुंदर पिचाई (CEO, गूगल): ये बहुत अच्छा रहा। कई इंडस्ट्रीज के बारे में चर्चा हुई। मोदी ये खोज रहे थे कि ज्यादा से ज्यादा इन्वेस्टमेंट कैसे हो? कई अच्छे आइडियाज पर चर्चा हुई। मुझे लगता है कि हर कोई इंडिया में इन्वेस्टमेंट को लेकर काफी उत्साहित था। मैं भी एक्साइटेड हूं कि हम लोग मिलकर क्या कर सकते हैं। GST के लागू होने का इंतजार है। मैं जानता हूं कि ये मुश्किल है, लेकिन इसे लागू होते देखना एक्साइटिंग है। ये दिखाता है कि अगर ठान लिया जाए तो सुधार किए जा सकते हैं।
2) मेरिलिन ए ह्यूसन (CEO, लॉकहीड मॉर्टिन): बेहद प्रोडक्टिव अमेरिका और भारत के बीच रिश्तों को कैसे मजबूत किया जा सकता है, इस पर चर्चा करने का मौका मिला। टाटा के साथ F-16 फाइटर जेट्स के प्रोडक्शन के बारे में चर्चा करने का मौका मिला। विश्वास है कि ये पार्टनरशिप इंडिया-अमेरिका की नेशनल सिक्युरिटी और इकोनॉमिक प्रॉस्पेरिटी को बढ़ाएगी और हमारे रिश्तों को मजबूत करेगी।
3) टिम कुक (CEO, एप्पल): कुक ने मीटिंग से बाहर निकलने के बाद कहा, “अच्छा”।
4) मुकेश आघी, प्रेसिडेंट (USICB): CEOs ने पीएम के रिफॉर्म्स की तारीफ की। इंडिया को बिजनेस फ्रैंडली डेस्टिनेशन बनाने की कोशिशों का भी अच्छी तरह जिक्र किया गया। हालांकि, H-1B वीजा पर इस मीटिंग में कोई बात नहीं हुई।
ये है कंपनियों की मार्केट वैल्यू
– मोदी जिन 21 CEOs से मिले, उनकी कंपनियों की मार्केट वैल्यू 210 लाख करोड़ रुपए यानी 210 ट्रिलियन है। यह आंकड़ा फोर्ब्स और फॉर्च्यून की लिस्ट के मुताबिक है। बता दें कि 2015 के अपने दौरे में भी मोदी ने यूएस के टॉप 47 CEOs से मुलाकात की। उन CEOs की कंपनियों की उस वक्त मार्केट वैल्यू 300 लाख करोड़ रुपए यानी 300 ट्रिलियन थी।
CEO, कंपनी मार्केट वैल्यू (बिलियन डॉलर)
1 शांतनु नारायण, एडोब 64.40
2 जेफ बेजोस, अमेजन 427
3 जिम टैक्लेट, अमेरिका टॉवर कॉरपोरेशन 33
4 टिम कुक, एप्पल 752
5 जिम उम्प्लेबाई, कैटरपिलर 56
6 जॉन चैम्बर्स, सिस्को 165.10
7 पुनित रेंजेन, डिलॉइट 35
8 डेविड फार, इमर्सन 38.30
9 मार्क वेनबर्ग, अर्नेस्ट एंड यंग 29.60
10 सुंदर पिचाई, गूगल 600
11 जेमी डिमोन, जेपी मॉर्गन 11
12 मेरीलिन ह्यूसन, लॉकहीड मार्टिन 78.30
13 आर्ने सोरेनसन, मैरियट इंटरनेशनल 34.90
14 अजय बंगा, मास्टरकार्ड 121.30
15 इरेन रोसेनफील्ड , मोंडेलेज इंटरनेशनल 67.40
16 डेविड रूबेन्स्टीन, कार्लाइल ग्रुप 162
17 डग मैकमिलन, वालमार्ट 221
18 चार्ल्स काये, वारबर्ग पिनकस 40
19 डेनियल यारगिन, IHS मार्किट 17.2
कुल 3,275 बिलियन डॉलर, यानी 210 लाख करोड़ रुपए (210 ट्रिलियन)
EXPERT VIEW: रहीस सिंह
Q. ट्रम्प से मुलाकात को लेकर उम्मीद करनी चाहिए या जिन CEOs से मोदी मिले, उनसे?
– ‘‘CEOs से उम्मीद ज्यादा है। अगर मोदी उन्हें अपनी बात समझा पाए हैं तो जीएसटी के खतरों को कंपनसेट करने में मदद मिलेगी।”
ट्रम्प ने बताया मोदी को सच्चा दोस्त
– बता दें कि मोदी रविवार को अमेरिका पहुंचे, उधर डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट करके मोदी को अपना सच्चा दोस्त बताया। उन्होंने अमेरिकी प्रेसिडेंट के आफिशयल अकाउंट पर ट्वीट किया- भारतीय पीएम मोदी के स्वागत के लिए व्हाइट हाउस तैयार है। अहम स्ट्रैटजिक इश्यूज पर अपने सच्चे दोस्त के साथ चर्चा होगी।
– सोमवार को मोदी डोनाल्ड ट्रम्प से पहली बार मिलेंगे। इस दौरान दोनों देशों के बीच कई करार होने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *