हम किसी भी वक्त और कहीं भी न्यूक्लियर टेस्ट कर सकते हैं

सिओल. नॉर्थ कोरिया ने धमकी दी है कि वह किसी भी वक्त और किसी भी जगह न्यूक्लियर टेस्ट कर सकता है। बीते कुछ महीनों से कोरियाई पेनिनिसुला में तनाव बना हुआ है। तानाशाह किम जोंग उन एटमी जंग की धमकी तक दे चुका है। अमेरिका इलाके में जंगी जहाज का बेड़ा भेज चुका है।
हम तैयार हैं…
– न्यूज एजेंसी केसीएनए के मुताबिक नॉर्थ कोरिया फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन ने कहा, “किसी भी हमले का जवाब देने के लिए हम पूरी तरह तैयार है।”
– “हम कहीं भी और किसी भी वक्त एटमी टेस्ट करने में कैपेबल हैं। इसका फैसला देश की सुप्रीम लीडरशिप को लेना है।”
– नॉर्थ कोरिया पहले भी कह चुका है कि अगर मिलिट्री कार्रवाई हुई तो जवाब एटमी हमले से दिया जाएगा।
क्यों बढ़ रहा तनाव?
– अमेरिका और कोरियाई पेनिनसुला में तनाव की वजह नॉर्थ कोरिया का न्यूक्लियर प्रोग्राम है। तानाशह किम जोंग उन सिविल कानून नहीं मानता।
– उन बीते एक हफ्ते में 4 बार अमेरिका पर एटमी अटैक की धमकी दे चुका है।
– 2017 में ही उसने तीन मिसाइलों के कामयाब टेस्ट किए। 2006 से अब तक वह 5 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है। पिछले साल उसने हाइड्रोजन बम समेत 2 एटमी टेस्ट किए थे।
– मार्च, 2017 में उसकी मिसाइलें जापान के समुद्री क्षेत्र में गिरी थी। इससे भी तनाव बढ़ा।
क्या कोरियाई पेनिनसुला में जंग शुरू हो गई है?
– ताजा घटनाएं बताती हैं कि अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है।
– नॉर्थ कोरिया की एटमी अटैक की ताजा धमकी के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने नॉर्थ की तरफ सबसे बड़ी न्यूक्लियर सबमरीन, जंगी जहाज बेड़ा कार्ल विन्सन और एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम थाड को तैनात कर दिया है। उ. कोरिया पर अमेरिका की यह सबसे बड़ी सैन्य घेराबंदी है।
– इस बीच नॉर्थ कोरिया ने 25 अप्रैल को 85वें आर्मी डे पर अब तक का सबसे बड़ी मिलिट्री एक्सरसाइज कर इरादे जता दिए।
– अगले दिन पलटवार करते हुए नॉर्थ कोरिया की बॉर्डर पर साउथ कोरिया, अमेरिका और जापान की सेना ने दशक की सबसे बड़ी ज्वाइंट एक्सरसाइज की।
साउथ कोरिया में बच्चों की दी जा रही केमिकल हमले से बचने की ट्रेनिंग
– साउथ कोरिया ने भी जंग के लिहाज से तैयारियां शुरू कर दी हैं। यहां वॉर मेमोरियल में स्कूली बच्चों, बुजुर्गों को केमिकल और बॉयोलॉजिकल हमले से बचने के तौर-तरीके सिखाए जा रहे हैं।
– साउथ कोरिया की ढाई करोड़ की आबादी नॉर्थ कोरिया की सीमा से सटी है। यहां अलर्ट जारी किया गया है।
– साउथ कोरिया में नई सरकार का गठन 9 मई को होना है। पर यहां एक चुनावी सर्वेक्षण में 45% लोगों के लिए देश की इकोनॉमी अहम मुद्दा है।