हर हाल में जीतना होगा भारत को

वेस्टइंडीज पर जोरदार जीत से उत्साहित टीम इंडिया की नजरें मंगलवार को यहां श्रीलंका के खिलाफ होने वाले त्रिकोणीय सीरीज के आखिरी लीग मुकाबले में हर हाल में जीत दर्ज करने पर लगी रहेंगी।

भारत त्रिकोणीय सीरीज की अंक तालिका में पांच अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। मेजबान वेस्ट इंडीज और श्रीलंका के बीच रविवार को भारी वर्षा के कारण सोमवार के रिजर्व दिन खिसका दिया गया है।

वर्षा के कारण रविवार को मैच रुकने तक श्रीलंका ने 19 ओवर में तीन विकेट खोकर 60 रन बनाए थे। सोमवार को मैच इसी स्कोर से आगे बढ़ाया जाएगा।

वेस्टइंडीज, श्रीलंका के मैच का चाहे जो भी परिणाम रहे भारत की फाइनल की राह तभी खुलेगी जब वह जीत दर्ज कर पाएगा। चोटिल कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी की जगह कप्तानी का भारत संभाल रहे विराट कोहली जानते हैं कि श्रीलंका के खिलाफ मैच टीम इंडिया के लिए कितना महत्वपूर्ण है क्योंकि चैम्पियंस ट्रॉफी विजेता की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

विराट को टीम की जीत के साथ यह भी सुनिश्चित करना होगा कि मैदान में टीम में अनुशासन बना रहे। वेस्ट इंडीज के खिलाफ शानदार जीत में दो भारतीय खिलाड़ियों रवीन्द्र जडेजा और सुरेश रैना का मैदान में अनावश्यक टकराव कड़वाहट छोड़ गया था।

भारत को अपने पहले दोनों मैचों में वेस्टइंडीज और श्रीलंका सेहार का सामना करना पड़ा था लेकिन टीम इंडिया ने फिर शानदार वापसी करते हुए वेस्ट इंडीज को वर्षा प्रभावित मैच में डकवर्थ लुईस नियम के तहत 102 रन से पराजित किया था। विराट ने खुद 102 रन की मैच विजयी पारी खेली थी।

टीम इंडिया का शीर्ष क्रम तो इस समय अच्छा खेल रहा है लेकिन उसकी चिन्ता मध्य क्रम को लेकर है। टॉप ऑर्डर में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट तो रन बना रहे हैं लेकिन मध्य क्रम में सुरेश रैना, दिनेश कार्तिक, मुरली विजय और जडेजा संघर्ष कर रहे हैं।  श्रीलंका ने भारत के खिलाफ पिछले मैच में एक विकेट पर 348 रन का विशाल स्कोर बनाया था। तब उपुल तरंगा ने 174 और माहेला जयवर्धने ने 107 रन ठोके थे। इसी स्कोर के कारण श्रीलंका का नेट रन रेट इस समय प्लस में है।

भारतीय गेंदबाजों को इस मैच के अपने प्रदर्शन से सबक लेकर मंगलवार को ज्यादा सधी गेंदबाजी करनी होगी तभी भारत 11 जुलायी के फाइनल में पहुंचने की उम्मीद कर पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *