हां, हेलीकॉप्टर सौदे में हुआ भ्रष्टाचार: एंटनी

कोच्चि, 25 मार्च 2013 | अपडेटेड: 14:46 IST

रक्षा मंत्री ए. के. एंटनी ने सोमवार को माना कि अति विशिष्ट लोगों के लिए हेलीकॉप्टर खरीदने हेतु हुए सौदे में भ्रष्टाचार हुआ था. उन्होंने यह भी कहा कि नई रक्षा खरीद नीति जल्द ही तैयार हो जाएगी.

अति विशिष्ट लोगों के लिए 12 हेलीकॉप्टर खरीदने को लेकर इटली की कंपनी अगस्तावेस्टलैंड के साथ हुए समझौते में धांधली की बात स्वीकारते हुए एंटनी ने कहा, हां, हेलीकॉप्टर खरीद सौदे में भ्रष्टाचार हुआ और रिश्वत ली गई. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) गहनता से मामले की जांच कर रहा है.

समझौते में घोटाले की बात उजागर होते ही रक्षा मंत्रालय ने सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे. रक्षा मंत्री ने कहा, ‘थोड़ा इंतजार कीजिए. इसमें कोई संदेह नहीं कि इस मामले में संलिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने यह भी कहा कि रक्षा खरीदी से संबंधित नई नीति जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगी. एंटनी ने कहा, ‘हम रक्षा खरीद में स्वदेशीकरण पर जोर दे रहे हैं. नई नीति का निर्माण अंतिम चरण में है.’ एंटनी ने एक समारोह के अवसर पर अलग से संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा ‘हम स्वदेशीकरण को बढ़ावा दिये जाने पर विशेष जोर दिये जाने के पक्ष में हैं, खासकर इस क्षेत्र में हमारे अनुभव को देखते हुये. नई प्रक्रिया में इस दिशा में प्रयास और तेज किये जायेंगे और घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा.’

एंटनी ने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। उनसे पूछा गया था कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री रक्षा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा 26 प्रतिशत से बढ़ाकर 75 प्रतिशत किये जाने के पक्ष में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *