15 अगस्त को भारत पाकिस्तान को न मिठाई देगा और न ही लेगा

अमृतसर. भारत 15 अगस्त (भारत की आजादी का दिन) और 14 अगस्त (पाकिस्तान की आजादी का दिन) को पाकिस्तान के रेंजरों को न तो मिठाई देगा और न ही उनसे लेगा। बीएसएफ पंजाब फ्रंटियर के आईजी अनिल पालीवाल ने बताया कि अभी ऐसी कोई संभावना नहीं है कि मिठाई ली जाए या फिर दी जाए। माना जा रहा है कि पंजाब के दीनानगर में हुए आतंकी हमले और जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ सीजफायर तोड़ने वाले आतंकियों को सपोर्ट किए जाने की वजह से भारत ने यह फैसला किया है। इस बीच, बुधवार को लगातार चौथे दिन पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में सीजफायर तोड़ने का सिलसिला जारी रखा।
ठुकराई थी भारत की मिठाई
ईद पर भारत की ओर से बीएसएफ ने जब मिठाई ऑफर की थी, तब पाकिस्तान ने उसे लेने से मना कर दिया था।
खास मौकों पर दी जाती है मिठाई
बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स की तरफ से अपने-अपने खास मौकों जैसे कि आजादी दिवस, भारत के गणतंत्र दिवस, होली, दीवाली और पाक के ईद आदि के मौके पर एक-दूसरे को मिठाई देने की परंपरा रही है।
पिछले साल शुरू हुई थी तनातनी
बताया जा रहा है कि अक्टूबर, 2014 में बकरीद के मौके पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने मिठाई न दी और न ही ली थी। इसके बाद बीएसएफ ने दिवाली के मौके पर ऐसा कर जवाब दिया। इसके बाद से यह सिलसिला जारी है। पालीवाल ने बताया कि बॉर्डर पर एक्स्ट्रा फोर्स तैनात कर दी गई है और ऑफिसों में बैठने वाले अफसरों को भी फील्ड में उतार दिया गया है।
लगातार चौथे दिन पाकिस्तान ने तोड़ा सीजफायर
बुधवार को लगातार चौथे दिन पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ने का सिलसिला जारी रखा। जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में एलओसी के नजदीक सब्जी मंडी इलाके में आर्मी पोस्ट और आम लोगों को निशाना बनाते हुए बुधवार को सुबह सवा दस बजे रॉकेट और मोर्टार दागे। सेना ने फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दिया। इस दौरान किसी के जख्मी होने या मारे जाने की खबर नहीं है।