15 अगस्त पर लाल किले से भाषण के लिए पीएम मोदी ने जनता से मांगे सुझाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर दिए जाने वाले अपने भाषण के लिए पिछले साल की तरह इस साल भी जनता से सुझाव मांगे हैं. लोग MyGov ओपन फोरम या नरेंद्र मोदी साइट या ऐप पर अपने सुझाव दे सकते हैं.

पीएम मोदी ने ट्वीट में कहा है, ’15 अगस्त के भाषण को लेकर आपके क्या विचार और आइडिया हैं, उन्हें मेरे साथ खासतौर से बने फोरम नरेंद्र मोदी ऐप पर साझा करें. आप www.mygov.in पर भी अपने सुझाव शेयर कर सकते हैं. मैं आपके सुझावों के मिलने का इंतजार करुंगा.”

5 लाख तक की आय वालों के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य हो मुफ्त

पीएम मोदी की तरफ से सुझाव मांगे जाने के कुछ मिनटों के भीतर ही लोगों ने ताबड़तोड़ अपनी राय भेजनी शुरू भी कर दी. लोगों ने पांच लाख रुपए तक की आय वालों को मुफ्त स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा मुहैया करवाने से लेकर गाय को राष्ट्रीय महत्व का पशु घोषित करने तक के सुझाव दे डाले हैं. इतना ही नहीं, किसी ने पीएम से बलूचिस्तान के साथ साथ गिलगित बल्टिस्तान की भी सुध लेने की अपील की है. कुछ लोग चाहते हैं कि पीएम देश में बढ़ रही जनसंख्या पर काबू करने और आरक्षण और उसपर हो रही हिंसा पर देश के सामने अपनी बात रखें.

आप कैसे  दे सकते हैं अपना आईडिया?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक अपना आइडिया पहुंचाने के लिए आपको सरकार की वेबसाइट mygov.in पर जाना होगा यहां कमेंट बॉक्स दिए गए हैं जहां आप कमेंट के जरिए अपने आइडिया पीएम तक पहुंचा सकते हैं. बता दें कि हर महीने रेडियो पर प्रसारित होने वाले अपने ‘ मन की बात ‘ सम्बोधन के लिए भी पीएम लगातार लोगों से राय मांगते हैं और उनमें से कुछ सुझावों और टिप्पणियों को शामिल भी करते हैं.

मंत्रालयों से मांगा गया ब्यौरा

15 अगस्त से पहले मोदी सरकार देश के सामने एक अलग तरीके का रिपोर्ट कार्ड पेश करेगी. इसके लिए सभी मंत्रालयों से उन क़दमों का ब्यौरा मांगा गया है जो पीएम द्वारा 15 अगस्त को किए गए वादों को पूरा करने से जुड़ा है. इन क़दमों का ब्यौरा इकठ्ठा कर सरकार इसे लोगों तक पहुंचाने की योजना बना रही है. सरकार के सूत्रों के मुताबिक इस कदम के ज़रिए मोदी सरकार की कोशिश लाल किले से किए गए एलानों की जमीनी हकीकत भी पता करने की है.

इस साल के भाषण पर भी है नज़र

अगले महीने 15 अगस्त को होने वाला भाषण वर्तमान एनडीए सरकार के मुखिया के तौर पर लालक़िले से दिया जाने वाला नरेंद्र मोदी का आखिरी भाषण होगा. ऐसे में सबकी नजरें इस भाषण पर हैं. अटकलें लग रही हैं कि अगले साल होने वाले चुनावों के मद्देनजर पीएम मोदी कुछ बड़ा एलान कर सकते हैं जिसका सियासी असर भी पड़ेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *