20 महीने बाद कल कैबिनेट में फेरबदल कर सकते हैं मोदी, 75+ नेताओं को जगह नहीं

नई दिल्ली.कई महीनों से लगाए जा रहे कयासों के बाद नरेंद्र मोदी मंगलवार को कैबिनेट में फेरबदल करने जा रहे हैं। इसके लिए राष्ट्रपति भवन को इन्फॉर्म किए जाने की खबर है। कुछ नए मंत्री बनाए जा सकते हैं, जबकि कुछ के पोर्टफोलियो बदलने की भी जानकारी है। माना जा रहा है कि 75 साल से ऊपर के नेताओं को मंत्री नहीं बनाया जाएगा। ये फेरबदल मंगलवार को होने के आसार इसलिए ज्यादा हैं क्योंकि मोदी को 7 जुलाई से चार अफ्रीकी देशों के दौरे पर रवाना होना है। पिछला और इकलौता फेरबदल नवंबर 2014 में हुआ था।
कई नामों की चर्चा…
– फिलहाल मोदी कैबिनेट में 66 मंत्री हैं। कानून के मुताबिक, 82 मंत्री रह सकते हैं।
– इस बात की संभावना सबसे ज्यादा है कि यूपी, उत्तराखंड और पंजाब के नेताओं को मंत्री बनाया जाएगा, जहां अगले साल असेंबली इलेक्शन हैं।
– सर्बानंद सोनोवाल असम में सीएम बन चुके हैं। उनकी जगह खाली है। शिवसेना को भी एक मंत्री पद और मिल सकता है।
साइकल से संसद जाने वाले मेघवाल बनेंगे मंत्री
– कई बार साइकल से संसद पहुंचने वाले बीकानेर के सांसद अर्जुन मेघवाल को मंत्री बनाया जा सकता है। उनके अलावा पाली के सांसद पीपी. चौधरी का नाम भी इसी फेहरिस्त में है।
– मेघवाल अकसर राजस्थान के मुद्दों को संसद में उठाते रहे हैं। वो आईएएस भी रह चुके हैं।
अफ्रीका दौरे से पहले फेरबदल
– मोदी 7 जुलाई को चार अफ्रीकी देशों की विजिट पर रवाना हो रहे हैं। इसके पहले वो कैबिनेट में फेरबदल करना चाहते हैं।
– बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह से उन्होंने बीते 45 दिनों में कई बार चर्चा कर इस मुद्दे पर चर्चा भी की है। पिछले हफ्ते तो दोनों के बीच करीब चार घंटे बातचीत हुई थी।
– माना जा रहा है कि कुछ मंत्रियों को शाह अपनी टीम में शामिल कर सकते हैं। मोदी-शाह की जोड़ी अगले लोकसभा चुनाव पर भी फोकस कर रही है।
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक- होम, फाइनेंस, डिफेंस और एक्सटर्नन अफेयर्स देख रहे मंत्रियों के पोर्टफोलियो नहीं बदले जाएंगे।
– पावर मिनिस्टर फॉर स्टेट पीयूष गोयल को इंडिपेंडेंट चार्ज से प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाना तय माना जा रहा है।
75 साल के ऊपर के लोगों को जगह नहीं
– हाल ही में मध्य प्रदेश की कैबिनेट में बदलाव हुए। दो मिनिस्टर्स बाबूलाल गौर और सरताज सिंह 75 साल से ज्यादा की उम्र के थे। इनसे इस्तीफे ले लिए गए।
– पार्टी इसी पॉलिसी को सेंटर में लागू करना चाहती है। इसीलिए मोदी भी ऐसे लोगों को मंत्री नहीं बनाएंगे जो 75 से ऊपर हैं।
– 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यशवंत सिन्हा, शांता कुमार और बीसी. खंडूरी को भी उम्रदराज होने की वजह से मंत्री नहीं बनाया गया था।
– मोदी कैबिनेट में नजमा हेपतुल्ला और कालराज मिश्र, दो ऐसे मंत्री हैं, जिनकी उम्र 75 साल से ज्यादा है।
मोदी ने अब तक सिर्फ एक बार किया है बदलाव
– मोदी और उनकी कैबिनेट ने 26 मई, 2014 को शपथ ली थी।
– उसके बाद से सिर्फ एक बार नवंबर 2014 में कैबिनेट में बदलाव हुआ।
– तब बड़े चेहरों में शिवसेना से आए सुरेश प्रभु और गोवा के सीएम रहे मनोहर पर्रिकर को कैबिनेट में शामिल किया गया था।
टीम मोदी में अभी कहां से कितने मंत्री?
– 66 मंत्रियों में से 13 उत्तर प्रदेश से।
– 8 बिहार से।
– 7 महाराष्ट्र से।
– 8 महिलाएं मोदी के कैबिनेट में।
– 34 मंत्री स्पेशलिस्ट, इनमें 15 वकील।
– 73 साल थी मनमोहन सरकार के मंत्रियों की एवरेज एज।
– 59 साल है अब मोदी मंत्रिमंडल के मेंबर्स की औसत उम्र।
– 7 मंत्री संघ से जुड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *