2nd T20 आज: होम ग्राउंड पर चलेगा धोनी का बैट? श्रीलंका के इन प्लेयर्स को रोक पाएंगे?

खेल डेस्क. भारत-श्रीलंका के बीच दूसरा टी-20 आज शाम 7.30 बजे से यहां खेला जाएगा। यह धोनी का होम ग्राउंड है। उन पर नजरें टिकी हैं, क्योंकि पिछले चार टी-20 में उन्होंने सिर्फ 27 रन बनाए हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलिया का क्लीन स्वीप कर चुकी इंडियन टीम पहले मैच में श्रीलंका के खिलाफ 5 विकेट से हार चुकी है। श्रीलंका के पास 7 नए चेहरे हैं। उनमें से 5 से निपटना भारत के लिए बड़ा चैलेंज हैं। इनके सामने स्टार प्लेयर्स से भरी पड़ी धोनी ब्रिगेड पूरी तरह फ्लॉप रही थी।
क्या 5 छुपे रुस्तम को रोक पाएगी टीम इंडिया…
 मिलिंडा सिरिवर्दना (ऑलराउंडर)
– दसून शांका (ऑलराउंडर)
– कसून रजिथा (मीडियम फास्ट बॉलर)
– दुशमांथा चमीरा (फास्ट बॉलर)
– निरोशन डिक्वेला (ओपनर)
असल प्रॉब्लम है यहां : एक्साइटेड फैन्स और धोनी का बैट है रूठा
 – रांची में सबसे बड़े हीरो माने जाने वाले धोनी को देखने के लिए स्टेडियम के खचाखच भरे रहने की उम्मीद है।
– धोनी को भी साबित करना होगा। फिलहाल उनके बल्ले में उतना एग्रेशन दिखाई नहीं दे रहा है।
– पुणे में केवल दो रन बनाए, वहीं ऑस्ट्रेलिया में 3 टी-20 मैचों की सीरीज में उन्होंने 25 रन ही बनाए थे।
– वहां उनका बेस्ट स्कोर 14 रन रहा था। हालांकि भारत के सबसे सफल कप्तान हैरान करना जानते हैं।
इंडिया के लिए ये हैं पॉजिटिव बातें…
 – फास्ट बॉलर जसप्रीत बुमराह ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज में 17.16 की एवरेज से 6 विकेट लिए थे।
– पुणे में 19 रन देकर कोई विकेट नहीं निकाल सके। लेकिन उन्होंने अपना इकोनॉमी रेट 5 से कम रखा।
– 36 साल के फास्ट बॉलर आशीष नेहरा गजब के फॉर्म में हैं। पुणे में उन्होंने दो विकेट लिए थे।
– अश्विन ने 3 ओवर में 4.33 के सबसे सफल इकोनॉमी रेट से 13 रन देकर 2 विकेट लिए थे।
– इंडिया अभी तक रांची में कोई भी मैच नहीं हारी है। हालांकि यहां ये उसका पहला टी-20 है।
– हालांकि विराट कोहली का टीम में नहीं रहने से इंडियन मिडिल ऑर्डर थोड़ा कमजोर दिखाई दे रहा है।
कुछ ऐसा रहा 1st मैच
 – पहले मैच में भारत ने बनाए 10/101 रन।
– श्रीलंका ने 5 विकेट से जीता मैच।
– डेब्यू स्टार रजिथा (3 विकेट) बने मैन ऑफ द मैच।
जीत क्यों है जरूरी
 – भारत रांची में मैच गंवाता है तो वह सीरीज गंवा देगा।
– हार के साथ एशिया कप में उतरना मनोबल गिराने वाला होगा।
– पॉजिटिव शुरुआत के लिए उसे टूर्नामेंट में वापसी करनी ही होगी।
यहां सुधार की जरूरत
 – बैटिंग ऑर्डर में ओपनिंग से लेकर टेलएंडर्स तक को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी।
– बॉलिंग और फील्डिंग में काफी सुधार की जरूरत है। पहले मैच में कई कैच छोड़े गए।
– आखिरी ओवर्स में बॉलर्स का अधिक रन लुटाना इंडिया को लगातार भारी पड़ रहा है।