36 साल बाद ओलिंपिक में क्वालिफाई करने वाला भारतीय पुरुष स्प्रिंटर डोप टेस्ट में फेल

नई दिल्ली.रियो ओलिंपिक शुरू होने से पहले भारत को एक और झटका लगा है। 200 मीटर रेस में क्वालिफाई करने वाले धरमबीर सिंह डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। इसके कारण वो मंगलवार को रियो नहीं जा सके। इससे पहले शॉटपुटर इंद्रजीत सिंह और नरसिंह पहले ही डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए थे। 36 साल बाद किसी इंडियन ने किया था क्वालिफाई…
– बेंगलुरु में हुए इंडियन ग्रां प्री एथलेटिक्स इवेंट में धरमबीर ने 20.50 सेकंड के ओलिंपिक मार्क को 20.45 सेकंड में पूरा कर लिया था।
– वे 36 साल बाद ओलिंपिक क्वालिफाई करने वाले इंडियन स्प्रिंटर बने थे।
– इससे पहले 1980 के मॉस्को ओलिंपिक के लिए सुब्रमणियन पेरुमल ने क्वालिफाई किया था।
– धरमबीर अब तक नेशनल गेम्स में 100 व 200 मीटर दौड़ में छह गोल्ड, एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं।
– 2015 में 21वें एशियन चैम्पियनशिप के दौरान धरमबीर ने 22.66 सेकंड की टाइमिंग के साथ मिल्‍खा सिंह का रिकॉर्ड तोड़ा था।
– वहीं, दूसरी ओर पहले ही डोप टेस्ट में फेल रहे नरसिंह यादव और इंदरजीत सिंह का भी रियो जाना अभी तय नहीं है।
नरसिंह को अभी वाडा ने नहीं दी क्लीन चिट
– वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) ने भारतीय पहलवान नरसिंह यादव के मामले में कहा है कि भले ही उन्हें नाडा ने डोपिंग से बरी कर दिया हो, लेकिन वह उसके मामले का रिव्यू करेगी।
– नाडा के डायरेक्टर नवीन अग्रवाल ने भी कहा कि नियमानुसार वाडा हमारे फैसले का रिव्यू कर सकती है।
– वाडा ही अंतिम रूप से तय करेगी कि नरसिंह रियो में खेल सकेंगे या नहीं।
इंद्रजीत का बी सैम्पल पॉजिटिव, लग सकता है चार साल का प्रतिबंध
– शॉटपुटर इंद्रजीत सिंह का बी सैम्पल भी पॉजिटिव पाया गया है और उन पर रियो ओलिंपिक से बाहर होने का खतरा मंडराने लगा है।
– इंद्रजीत पर वाडा चार साल का बैन लगा सकता है। नाडा ने 24 जून को इंद्रजीत का टेस्ट लिया था और उनके सैम्पल में स्टेरॉयड मिला था।
– 28 साल के इंद्रजीत ने मंगलोर में हुए फेडरेशन कप एथलेटिक्स में 20.65 मीटर गोला फेंककर वर्ल्ड चैम्पियनशिप और रियो ओलिंपिक का टिकट हासिल किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *