4G सर्विस के लिए हाथ मिलाएंगे अंबानी ब्रदर्स, अनिल ने मुकेश को कहा शुक्रिया

मुंबई. देश के दो बड़े बिजनेसमैन भाई मुकेश और अनिल अंबानी 4G सर्विस के लिए एक साथ काम करेंगे। रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने बुधवार को रिलायंस कम्यनिकेशंस या आरकॉम की एजीएम में इसका खुलासा किया। अनिल अंबानी की कंपनी आरकॉम की 4G सर्विस इस साल के आखिर तक शुरू होने वाली है।
क्या कहा अनिल ने
एजीएम में अनिल अंबानी ने कहा कि 4G सर्विस स्पेक्ट्रम की ट्रेडिंग और शेयरिंग में वह मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो (आर जियो) का साथ लेने जा रहे हैं। आरकॉम ग्राहकों के लिहाज से देश की चौथी सबसे बड़ी मोबाइल सर्विस कंपनी है। हालांकि इक्विटी ट्रांजेक्शन पर अनिल ने इस एजीएम में कोई खुलासा नहीं किया। सूत्रों के मुताबिक अनिल ने एजीएम में कहा, “इस मामले में मिले सपोर्ट के लिए मैं अपने बड़े भाई मुकेश का शुक्रगुजार हूं।” अपने पिता धीरूभाई अंबानी को याद करते हुए अनिल ने कहा, “इस पार्टनरशिप से स्वर्ग में बैठे मेरे पिता और धरती पर मेरी मां को बहुत खुशी होगी।” एजीएम के दौरान अनिल की मां कोकिलाबेन और पत्नी टीना भी मौजूद थीं।
आठ साल बाद 20013 में आए थे साथ
अंबानी भाईयों के बीच 2005 में दूरियां बढ़ी थीं लेकिन आठ साल बाद 2013 में दोनों के बीच कड़वाहट कम होने के संकेत मिलना शुरू हो गए थे। आर जियो ने आरकॉम के साथ उसके इंटर-सिटी और इंट्रा-सिटी इंफ्रास्ट्रक्चर को यूज करने के लिए डील की थी। यह डील आरकॉम के 520,000 किलोमीटर में फैले ऑप्टिक फाइबर पेयर्स और 45 हजार टॉवर्स को यूज करने के बारे में थी। बताया जाता है कि डील 12 हजार करोड़ रुपए की थी।
क्या हैं मायने
अनिल और मुकेश अंबानी की कंपनियों के बीच 4G सर्विस के लिए की जा रही डील इंडियन टेलिकॉम सेक्टर में बहुत अहम साबित हो सकती है। अगर दोनों भाईयों की कंपनियां साथ आती हैं तो वे सुनील मित्तल की एयरटेल, कुमार मंगलम बिड़ला की आइडिया और मल्टीनेशनल कंपनी वोडाफोन पर भारी पड़ सकती हैं। खबरों के मुताबिक अनिल रूस की कंपनी सिस्टेमा के इंडियन ऑपरेशंस का अपनी कंपनी में मर्जर चाहते हैं। अगर अनिल-मुकेश और सिस्टेमा साथ हो जाते हैं तो ये ग्रुप भारत में टेलिकॉम सेक्टर का पॉवर हाउस बन जाएगा।
सिस्टेमा से भी डील चाहते हैं अनिल
बताया जाता है कि आरकॉम और सिस्टेमा के बीच जिस डील की बात चल रही है वह 850 मेगा हर्ट्ज बेंड (850 MHz band) के लिए है और इसमें आठ सर्कल्स आते हैं। यह डील साल 2033 तक के लिए होगी। एजीएम के दौरान अनिल ने कहा कि इस डील को लेकर बातचीत चल रही है और अगले कुछ हफ्तों में इस बारे में कोई ऐलान किया जा सकता है।
मार्केट पर भी दिखा असर
दोनों भाईयों के बीच डील की खबरों का असर मुंबई स्टॉक मार्केट पर भी दिखा। आरआईएल के शेयर 2.5 फीसदी की बढ़त के साथ 860 रुपए पर जबकि आरकॉम के शेयर 6 फीसदी की बढ़त के साथ 68 रुपए पर बंद हुए। आरकॉम को साल 2002 में लॉन्च किया गया था। कुछ ही सालों में यह देश की दूसरी बड़ी मोबाइल सर्विस कंपनी बन गई।