5 अगस्त को होगा उपराष्ट्रपति का चुनाव, 790 सांसद करेंगे वोटिंग

नई दिल्ली.उपराष्ट्रपति का चुनाव 5 अगस्त को होगा। चीफ इलेक्शन कमिश्नर नसीम जैदी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी। जैदी ने कहा कि जरूरत पड़ी तो इसी दिन वोटों की गिनती भी कर ली जाएगी। इसके लिए संसद के दोनों सदनों के 790 मेंबर वोट डालेंगे। बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का टेन्योर 10 अगस्त को खत्म हो रहा है, वह लगातार दूसरी बार इस पोस्ट के लिए चुने गए थे। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए के रामनाथ कोविंद और एनडीए की ओर से मीरा कुमार नॉमिनेशन फाइल कर चुकी हैं। राष्ट्रपति के लिए 17 जुलाई को वोटिंग होगी। वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी।
पढ़ें, उपराष्ट्रपति चुनाव का शेड्यूल…
– सीईसी जैदी ने कहा, “निर्वाचन मंडल में राज्यसभा में निर्वाचित सदस्य-233, नॉमिनेटेड 12 हैं। लोकसभा में निर्वाचित मेंबर- 543 और नॉमिनेटेड मेंबर 2 हैं।” उपराष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सभी 790 मेंबर (निर्वाचित और नॉमिनेटेड) हिस्सा लेंगे।
– “संविधान में साफ किया गया है उपराष्ट्रपति पद का निर्वाचन गुप्त मतपत्र के द्वारा होगा। यानी इसका मतपत्र नहीं दिखाया जाए।”
ये होगा इलेक्शन का शेड्यूल
– जैदी ने बताया- ”नोटिफिकेशन 4 जुलाई को जारी होगा। नॉमिनेशन फाइल करने की आखिरी तारीख 18 जुलाई और स्क्रूटनी 19 को होगी।”
– ”कैंडिडेट 21 जुलाई तक नाम वापस ले सकते हैं। जरूरत पड़ने पर 5 अगस्त को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक वोट डाले जाएंगे, इसी दिन गिनती होगी।”
– उपराष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए 393 वोटों की जरूरत होगी।
# राष्ट्रपति चुनाव में कौन-कितना मजबूत
रामनाथ कोविंद v/s मीरा कुमार
रामनाथ कोविंद: सादगीभरी छवि, कानून के जानकार, संविधान की समझ (बिहार के गवर्नर रहे), कैंडिडेट के तौर पर दलित चेहरा। दो चुनाव लड़े, लेकिन हार गए।
मीरा कुमार: साफ-सुथरी छवि, कानून की जानकार, संविधान की जानकारी (लोकसभा स्पीकर रहीं)। विदेश नीति की जानकारी (इंडियन फॉरेन सर्विस में रहीं)। दलित चेहरा और पूर्व डिप्टी पीएम जगजीवन राम की बेटी। रामविलास पासवान और मायावती जैसे बड़े दलित लीडर्स को चुनाव में हराया। करोलबाग से 3 बार MP भी रहीं।
4 प्वाइंट में समझें किसके पास कितने वोट?
1# अभी क्या है पोजिशन?
NDA: लोकसभा, राज्यसभा, स्टेट असेंबली को मिलाकर टोटल 5,27,371 वोट होते हैं। कोविंद के एलान से पहले एनडीए का टोटल वोट पर्सेंटेज 48.10% है।
UPA: साझा कैंडिडेट उतारने की स्थिति में सभी अपोजिशन पार्टियां एक हो जाती हैं तो टोटल वोट 5,68,148 होंगे यानी करीब 51.90%।
2# NDA कितनी मजबूत हुई?
एलान से पहले: 48.10% वोट
अब इन पार्टियों का सपोर्ट
TRS: 1.99%
AIADMK: 5.39%
YSR कांग्रेस: 1.53%
JDU: 1.89%
BJD: 2.99%
एलान के बाद NDA के पास कितने वोटों का सपोर्ट: 61.89%
3# UPA कितना कमजोर हुआ?
कोविंद के एलान से पहले अपोजिशन एकजुट होने पर 51.90% वोट थे। लेकिन जेडीयू (1.89%) ने एनडीए को सपोर्ट का एलान किया। अब यूपीए का वोट पर्सेंटेज 50.01% रह गया है।
4# मीरा कुमार के आने से कितना फायदा?
– मीरा कुमार के आने के बाद UPA को BSP ने सपोर्ट कर दिया है। मायावती कह चुकी हैं कि कोई मजबूत दलित कैंडिडेट मिलने पर वो उसे सपोर्ट करेंगी। SP, AAP और INDL का सपोर्ट मिलने की भी उम्मीद है।
अभी UPA: 50.01% सपोर्ट मिला।
BSP: 0.74%
इनका सपोर्ट मिलने की उम्मीद
SP: 2.36%
AAP: 0.82%
INDL: 0.38%
सपोर्ट मिला तो कितनी मजबूती?
UPA: 54.31%
राष्ट्रपति चुनाव का शेड्यूल
नॉमिनेशन दाखिल करने की आखिरी तारीख:28 जून
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी:29 जून
नॉमिनेशन वापस लेने की आखिरी तारीख:1 जुलाई
वोटिंग (जरूरत पड़ने पर): 17 जुलाई, सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे
काउंटिंग (जरूरत पड़ने पर):20 जुलाई, सुबह 11 बजे से
ऐसे होगा राष्ट्रपति चुनाव
# 4896 वोटर राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा ले सकेंगे। इनमें 4120 MLAs और 776 MPs शामिल हैं।
#20 AAP के विधायकों के खिलाफ हाउस ऑफ प्रॉफिट के मामले में केस चल रहा है, लेकिन इलेक्शन कमीशन का कहना है कि आज की बात करें तो ये लोग वोट डाल सकेंगे।
# 12 नॉमिनेटेड राज्यसभा मेंबर्स भी वोट नहीं डाल सकेंगे। इसके अलावा, लोकसभा में दो एंग्लो-इंडियन कम्युनिटी के नॉमिनेटेड मेंबर्स भी वोट नहीं डाल सकेंगे।
# राज्यसभा की 10 सीटें खाली हैं, जिनके लिए चुनाव की घोषणा राष्ट्रपति चुनाव के बाद ही की जाएगी।
कितने वोट जरूरी
– किसी भी दल को अपनी पसंद का प्रेसिडेंट बनाने के लिए 50% यानी 5,49, 442 वोटों की जरूरत है।
टोटल MLAs: 4114
टोटल MPs: 776
MLAs की वोट वैल्यू:5,49,474
MPs की वोट वैल्यू: 5,48,408
टोटल वोट वैल्यू: 10,98,882

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *