मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश में बलिया से 27 जनवरी को शुरू हुई गंगा यात्रा आज तीसरे दिन वाराणसी होते हुए मिर्जापुर पहुंचेगी। यहां आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होंगे। सीएम के दौरे से पहले प्रशासन तैयारियों में जुट गया है। इस बीच लोक निर्माण विभाग के 9 जूनियर इंजीनियरों की ड्यूटी आवारा जानवर पकड़ने के लिए लगाई गई थी, ताकि गाय और सांड उनकी जनसभा में न प्रवेश कर सकें। इसका आदेश भी जारी हो गया था, लेकिन यह पत्र सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने के बाद डीएम ने इसे निरस्त कर दिया। 

इस संबंध में मिर्जापुर प्रांतीय खंड के अधिशासी अभियंता का आदेश सामने आया है। इसके मुताबिक, विभाग के 9 जूनियर इंजीनियरों को 29 तारीख को सुबह पुलिस लाइन से बिरोही तक 8-10 रस्सियां लेकर तैनात रहने को कहा गया है। इनका काम आवारा जानवरों पर नजर रखना होगा और मुख्यमंत्री के गुजरने के वक्त अगर जानवरों के सड़क पर आने की आशंका हो तो उसे बांधकर रखेंगे।

त्रुटिवश जारी हुआ यह आदेश निरस्त किया गया

मिर्जापुर के डीएम सुशील पटेल ने कहा कि पत्र की जानकारी मिलने पर संबंधित अधिकारी से बात की गई है। उनका कहना है कि त्रूटिवश यह पत्र जारी हुआ है। इसे निरस्त करने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने फोन पर यह भी सूचना दी है कि इसे निरस्त कर दिया गया है।

सीएम योगी ने सोमवार को की गंगा यात्रा की शुरुआत
योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बिजनौर से गंगा यात्रा का शुभारंभ की थी। पांच दिनों तक चलने वाली यह यात्रा दो रूट से निकाली जा रही है। पहली बिजनौर से कानपुर और दूसरी बलिया से कानपुर तक। बलिया में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने यात्रा का आगाज किया था।

क्या है गंगा यात्रा
यह यात्रा देश के 87 विधानसभा क्षेत्रों, 26 लोकसभा क्षेत्रों और 27 जिलों से गुजरेगी। दोनों यात्राएं सड़क मार्ग से 1,238 और नाव से 150 किमी की दूरी तय करेंगी। गंगा यात्रा के नोडल विभाग जलशक्ति के मंत्री महेन्द्र सिंह ने बताया कि पृथ्वी पर गंगा का कुल बहाव 2,525 किलोमीटर है। इसमें 1,140 किलोमीटर लंबा क्षेत्र उत्तर प्रदेश में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *