चेहरे के पीछे का चेहरा: जानिए, वायरल इन PHOTOS की असली सच्चाई

राजकोट। दुनिया को शांति और अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बारे में आज कौन नहीं जानता। राष्ट्रपिता के रूप में महात्मा गांधी एक अनोखा व्यक्तित्व रखने वाली शख्सियत थी और उनकी हरेक तस्वीर के पीछे एक अविस्मरणीय इतिहास था। फिर चाहे वह दांडी यात्रा हो, सविज्ञा आंदोलन हो या उनका चरखा चलाना हो। ये तस्वीरें देखकर ही हमें उसके पीछे की कहानी याद आ जाती है, लेकिन सोशल मीडिया में इस समय ऐसी कई फोटोज हैं, जो उनके व्यक्तित्व के बिल्कुल विपरीत हैं। इतना ही नहीं, इस मामले में सिर्फ महात्मा गांधी ही नहीं, बल्कि सोनिया गांधी और नेहरू गांधी को भी नहीं बख्शा गया है।
चेहरे के पीछे का चेहरा: जानिए, वायरल इन PHOTOS की असली सच्चाई
यह है हकीकत:
बाईं ओर की तस्वीर नकली है। दरअसल, यह 6 जुलाई, 1946 में मुंबई में आयोजित ऑल इंडिया कांग्रेस की मीटिंग में गांधीजी और नेहरू की फोटो थी, जिसे फोटोशॉप की मदद से नकली रूप दे दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *