69वां गणतंत्र : राज्यपाल ने दी तिरंगे को सलामी, झांकियों में दिखेगा यूपी का धार्मिक पर्यटन

लखनऊ. भारत आज अपना 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। लोकतंत्र का ये पर्व कई मायनों में इस बार खास है। नई दिल्ली में 44 साल बाद गणतंत्र दिवस की परेड में एक से ज्यादा विदेशी मेहमानों को बुलाया गया है। वहीं, यूपी में योगी आदित्यनाथ का बतौर मुख्यमंत्री पहला गणतंत्र दिवस है। यूपी विधानसभा को तिरंगे झंडों से सजाया गया है। प्रदेश के मुख्य कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक ने तिरंगे को सलमी दी। कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह और कई कैबिनेट मंत्री मौजूद हैं।

-गणत्रंत दिवस समारोह में स्कूली छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति से ओत-प्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

-गणतंत्र दिवस के मद्देनजर शहर में अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, विधानसभा मार्ग से सैकड़ों झाकियां निकाली जाएंगी। इस बार निकाली जाने वाली झांकियां में प्रदेश के धार्मिक पर्यटन की झलक होगी तो वहीं, झांकियों में भगवा रंग भी देखने को मिलेगा।

16 विभागों द्वारा निकाली जा रही हैं झांकियां

-विधान भवन के सामने भव्य कार्यक्रम की तैयारी की गई है। मुख्यमंत्री और राज्यपाल लेंगे परेड की सलामी लेंगे। 16 विभाग अपने विभागों की झांकियां निकालेंगे।

-16 कैदी किए जाएंगे रिहा

– गणतंत्र दिवस के मौके पर 16 कैदियों को रिहा किया जाएगा। प्रदेश के अलग-अलग जिला जेलों से कैदियों को रिहा किया जाएगा।

651 पुलिसकर्मियों को किया जाएगा सम्मानित

-26 जनवरी, 2018 को यूपी के 651 पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। जिसमें से 150 पुलिसकर्मियों को स्वर्ण पदक दिया जाएगा। जिनमें 21 आईपीएस, 21 पीपीएस, 21 इंस्पेक्टर और 20 सब इंस्पेक्टर भी शामिल हैं। आईजी नवनीत सिकेरा, आईजी डीके ठाकुर, आईपीएस अमित पाठक और आईपीएस विजय भूषण शामिल हैं। प्रदेश के चार जेल अधीक्षकों को भी राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित किया जाएगा।

#बिजनौर

-पुलिस लाइन पर आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी।

सीएम योगी ने दी बधाई

-सीएम योगी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर ध्वजारोहण किया। इस दौरान उन्होंने कहा- आज भारतवर्ष के गणतंत्र के 68 वर्ष पूर्ण होने पर मैं आप सभी को हृदय से बधाई देता हूं। आज पूरा देश अपने संविधान को अंगीकार करने का उत्सव मना रहा है। समता, न्याय और आपसी सद्भाव हमारे संविधान का मूल मंत्र है। भारत में हर जाति, मत और मजहब आपसी सद्भाव का परिचय देते हुए देश के विकास में योगदान दे सकें, इस दृष्टि से संविधान ने हमें एक सूत्र में जोड़ने का काम किया है।
-जब यह देश राष्ट्रीय पर्व के रूप में गणतंत्र दिवस मना रहा है तो स्वाभाविक तौर पर सबसे बड़े राज्य के रूप में उत्तर प्रदेश के नागरिक के रूप में देश के संकल्पों के साथ हम सबको भी खुद को संबद्ध करने की प्रेरणा दे रहा है।

-संकल्प लें कि हम उत्तर प्रदेश को गंदगी, गरीबी और अराजकता से मुक्त करेंगे। प्रगति में बाधक विकृतियों को अपने उत्तर प्रदेश में घुसने नहीं देंगे। एकता और आपसी सौहार्द में बाधक बनने वाली संकीर्णताओं को प्रदेश के विकास में आड़े नहीं आने देंगे।
-संसदीय लोकतंत्र में संविधान का अपना महत्व है। इस संसदीय लोकतंत्र में हमने जनता को जनार्दन के स्वरूप में माना है। हमें जनता की खुशहाली के लिए प्रयास करना चाहिए।

इस बार क्या है खास

-गणतंत्र दिवस के मौके पर निकलने वाली झांकियों में इस बार ज्यादातर झांकियों को भगवा रंग में रंगा गया है।
-यूपी पर्यटन विभाग की झांकी में गोरक्षनाथ मंदिर और अयोध्या का दीपोत्सव भी देखने को मिलेगा।
-झांकी में मथुरा बरसाने की होली को मुख्य रूप से दिखाया जाएगा। एक ही ट्रैक पर बनाई गई इस झांकी के लिए दिल्ली से खास कारीगर बुलाए गए थे।

ये झांकियां होंगी आकर्षण का केन्द्र

-झांकी में गोरखनाथ मन्दिर, ताजमहल और लखनऊ के रूमी दरवाज़े के कटआउट्स से सजी हैं। इस झांकी में पर्यटन विभाग कुंभ को प्रमोट करने के लिए कुंभ का दृश्य भी प्रमुखता दी गई है। झांकी में कलाकारों को लठमार होली मनाते हुए दिखाया जाएगा।

क्या कहना है मंत्री का?

-प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी का कहना है कि यूपी के धार्मिक स्थल यहां के पर्यटन का सबसे बड़ा आकर्षण हैं। लिहाज़ा हर फोरम पर इन स्थलों और उनसे जुड़े इवेंट्स के प्रचार पर पूरा ज़ोर दिया जा रहा है।

कुंभ मेले का होगा प्रचार

-पर्यटन विभाग पहले ही कुंभ 2019 का लोगो लांच कर चुका है और अब मथुरा की होली को ज़ोरदार ढंग से मनाने की तैयारी है। इसीलिए गणतंत्र दिवस परेड की झांकी को खासतौर पर मेलों और त्यौहारों की थीम से सजाया गया है ताकि होली के साथ ही कुंभ का पूरा प्रचार हो सके। इसमें गोरखनाथ मंदिर को गोरखनाथ उत्सव से जोड़कर दिखाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *